ऑक्सीजन आपूर्ति के लिए अर्धसैनिक बलों को तैनात करने की मांग

ऑक्सीजन आपूर्ति के लिए अर्धसैनिक बलों को तैनात करने की मांग

दिल्ली में हरियाणा और उत्तरप्रदेश से आने वाली ऑक्सीजन की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए अर्धसैनिक बलों की तैनाती की मांग की गई है। दिल्ली सरकार का कहना है कि ऑक्सीजन सप्लाई में जंगलराज चल रहा है।

दिल्ली में हरियाणा और उत्तरप्रदेश से आने वाली ऑक्सीजन की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए अर्धसैनिक बलों की तैनाती की मांग की गई है। दिल्ली सरकार का कहना है कि ऑक्सीजन सप्लाई में जंगलराज चल रहा है। इसे खत्म किया जाए वरना हालात खराब होते चले जाएंगे।

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा दिल्ली के साथ-साथ बाकी राज्यों का ऑकसीजन कोटा बढ़ाया गया है। बावजूद इसके हरियाणा और उत्तर प्रदेश के अधिकारी दिल्ली की ऑक्सीजन आपूर्ति को रोकने का काम कर रहे हैं।

मनीष सिसोदिया ने बताया कि पानीपत में हरियाणा सरकार के कुछ अधिकारियों ने दिल्ली के हिस्से की ऑक्सीजन रोक ली, जो बुधवार रात 3 बजे तक भी नहीं भेजी जा सकी।

उन्होंने बताया कि बुधवार को दिल्ली को 378 मीट्रिक टन ऑक्सीजन में से केवल 177 मीट्रिक टन ऑक्सीजन मिल पाया, क्योंकि हरियाणा और उत्तरप्रदेश के अधिकारियों द्वारा पुलिस की सहायता से दिल्ली के ऑक्सीजन टैंकरों को रोक दिया।

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली के अस्पतालों में ऑक्सीजन की बहुत ज्यादा कमी है। उन्होंने कहा कि हालात इतने खराब हैं कि कुछ अस्पतालों में अगले 2-3 घंटे के लिए ही ऑक्सीजन उपलब्ध है और ज्यादातर अस्पतालों में सिर्फ 7-8 घंटे के लिए ऑक्सीजन बाकी है।

उपमुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार से अपील करते हुए कहा कि जिस दरियादिली से केंद्र सरकार ने दिल्ली के लिए ऑकसीजन का कोटा बढ़ाया है। केंद्र सरकार अब कड़े कदम उठाते हुए उसकी आपूर्ति भी सुनिश्चित करें, क्योंकि अगर ऐसा नहीं हुआ तो लोगों को बचाना मुश्किल हो जाएगा। उन्होंने कहा कि इस संकट के समय राज्यों को आपस में लड़ने के बजाय साथ मिलकर इस महामारी से लड़ना है इसलिए ऑकसीजन को लेकर इस खींचतान को खत्म किया जाए।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news