26 सितंबर से 1 अक्टूबर के बीच होंगी डीयू में पीजी व पीएचडी की परीक्षाएं

दिल्ली विश्वविद्यालय की यह प्रवेश परीक्षाएं कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट आधारित मोड पर ली जाएंगी। जो छात्र इन परीक्षाओं में शामिल होना चाहते हैं वह डीयूईटी 2021 का बुलेटिन चेक कर सकते हैं। यह बुलेटिन नेशनल टेस्टिंग एजेंसी की वेबसाइट पर उपलब्ध है।
26 सितंबर से 1 अक्टूबर के बीच होंगी डीयू में पीजी व पीएचडी की परीक्षाएं

दिल्ली विश्वविद्यालय की प्रवेश परीक्षाओं के लिए नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने शेड्यूल जारी कर दिया है। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी की वरिष्ठ परीक्षा निदेशक डॉ साधना पराशर के मुताबिक दिल्ली यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट 26, 27, 28, 29, 30 सितंबर और 1 अक्टूबर को भी आयोजित किए जाएंगे। एनटीए ने इन परीक्षाओं के संबंध में एक आधिकारिक नोटिस जारी किया है।

एनटीए द्वारा जारी किए गए नोटिस में नेशनल टेस्टिंग एजेंसी की परीक्षा निदेशक डॉ साधना पराशर ने बताया कि दिल्ली विश्वविद्यालय के पोस्टग्रेजुएट, एमफिल व पीएचडी पाठ्यक्रमों में प्रवेश परीक्षा के लिए यह शेड्यूल तैयार किया गया है। दिल्ली विश्वविद्यालय की यह प्रवेश परीक्षाएं कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट आधारित मोड पर ली जाएंगी। जो छात्र इन परीक्षाओं में शामिल होना चाहते हैं वह डीयूईटी 2021 का बुलेटिन चेक कर सकते हैं। यह बुलेटिन नेशनल टेस्टिंग एजेंसी की वेबसाइट पर उपलब्ध है।

दिल्ली विश्वविद्यालय की इन परीक्षाओं में शामिल होने वाले छात्र नेशनल टेस्टिंग एजेंसी की वेबसाइट से ही एडमिट कार्ड भी डाउनलोड कर सकेंगे। साथ ही दिल्ली विश्वविद्यालय की आधिकारिक वेबसाइट पर भी परीक्षा में शामिल होने के इच्छुक छात्र यह सभी जानकारियां प्राप्त कर सकते हैं। इसके साथ ही नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने छात्रों के लिए 011 40759000 हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया है।

दिल्ली विश्वविद्यालय में पीएचडी, एमफिल और पोस्ट ग्रेजुएट पाठ्यक्रमों के लिए रजिस्ट्रेशन की अंतिम तारीख 21 अगस्त थी। दिल्ली विश्वविद्यालय में पीएचडी, एमफिल और पोस्ट ग्रेजुएट पाठ्यक्रमों के लिए रजिस्ट्रेशन 26 जुलाई से शुरू हुआ था।

एमफिल, पीएचडी के लिए आवेदन करने वाले सभी उम्मीदवारों को एक सामान्य पंजीकरण फॉर्म भरना होगा। किसी भी स्थिति में पंजीकरण शुल्क वापस नहीं किया जाएगा।

दिल्ली विश्वविद्यालय प्रशासन के मुताबिक सभी स्नातकोत्तर कार्यक्रमों के लिए दिल्ली विश्वविद्यालय प्रवेश परीक्षा, चयनित स्नातक कार्यक्रमों और एमफिल, पीएचडी कार्यक्रमों का आयोजन राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (एनटीए) द्वारा किया जाएगा।

एकेडमिक ईयर 2021-22 के लिए यूजी कोर्सेस में एडमिशन पिछले सालों की तरह कट-ऑफ के जरिए होगा। इस साल करीब 70,000 अंडर ग्रेजुएट (यूजी) सीटों और 20,000 पोस्ट ग्रेजुएट (पीजी) सीटों पर एडमिशन किया जा रहा है।

दिल्ली विश्वविद्यालय में नए सत्र के दाखिले 4 अक्टूबर से शुरू किए जाएंगे। विश्वविद्यालय के कुलपति पीसी जोशी के मुताबिक दिल्ली विश्वविद्यालय के कॉलेजों में 1 अक्टूबर को पहली कट ऑफ जारी की जा सकती है। जहां 1 अक्टूबर को पहली कट ऑफ लिस्ट जारी कर दी जाएगी, वहीं 2 और 3 अक्टूबर को सार्वजनिक अवकाश होने के कारण प्रवेश प्रक्रिया 4 अक्टूबर से शुरू होगी।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news