दिल्ली विधानसभा में रहस्यमय सुरंग, आम लोगों के लिए जल्द खुलेगी इतिहास की पोटरी

शुक्रवार दोपहर स्पीकर राम निवास गोयल मीडिया से मुखातिब हुए और इसपर जानकारी साझा भी की। उन्होंने कहा कि, 1993 में विधायक बनकर जब यहां आया तो एक सुरंग को लेकर मुझे जानकारी मिली।
दिल्ली विधानसभा में रहस्यमय सुरंग, आम लोगों के लिए जल्द खुलेगी इतिहास की पोटरी

दिल्ली विधानसभा में एक रहस्यमयी सुरंग का पता चला है जो की लाल किले तक जाती है। इस सुरंग को अब आम पर्यटकों के लिए खोलने की तैयारी की जा रही है। फिलहाल इसके इतिहास को लेकर पूर्ण रूप से पता नहीं चल सका है। दरअसल अभी तक यह अनुमान लगाया जा रहा है कि यह अंग्रेजों के वक्त में इसका इस्तेमाल किया जाता था, वहीं अब 26 जनवरी 2022 या 15 अगस्त 2022 तक आम लोगों के लिए इसे खोलने का काम शुरू हो चुका है।

शुक्रवार दोपहर स्पीकर राम निवास गोयल मीडिया से मुखातिब हुए और इसपर जानकारी साझा भी की। उन्होंने कहा कि, 1993 में विधायक बनकर जब यहां आया तो एक सुरंग को लेकर मुझे जानकारी मिली। तब से इसपर मैंने जानकारी जुटाने को कहा लेकिन ज्यादा जानकारी इकट्ठा नहीं हो सकी।

हम लगातार पुराने इतिहास को खोजने की कोशिश कर रहे हैं ताकि यह आम लोगों तक पहुंचाया जा सके। वहीं

अंग्रेजों ने 1926 में इसे न्यायालय के रूप में बदला साथी ही लाल किले में हमारे स्वंतत्रता सेनानी रहा करते थे, उन्हें इसी सुरंग के जरिये इधर लाया जाता था। वहीं कठघरे तक ले जाया जाता था।

उन्होंने आगे कहा कि, वहीं उन्हें जो भी सजा देनी हुआ करती थी, निर्णय लिया करते, साथ ही जिन्हें फांसी की सजा दी जाती थी, वह फांसी घर भी विधानसभा में मौजूद है।

फिलहाल इस फांसी घर को रेनोवेट कर फांसी घर का रूप देने का काम फिर शुरू किया जा रहा है, क्योंकि लंबे वक्त से यह बंद पड़ा रहा था।

सुरंग के अंदर फिलहाल कुछ लाइट लगाई गई हैं, ताकि अंधेरा न रहे। वहीं सुरंग कितनी दूर तक जा सकती है इसका भी पता लगाना थोड़ा मुश्किल है।

दिल्ली में सीवर लाइन और मेट्रो के कारण यह सुरंग के रास्ते बंद होने की आशंका जताई गई है। फिलहाल सुरंग का मुख खोल दिया गया है और जल्द ही पर्यटकों को इतिहास से जुड़ी कुछ अनसुने पहलुओं को ताजा करने का मौका दिया जाएगा।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news