Power Crisis: दिल्ली सरकार को NTPC का जवाब, कहा- बिजली की कमी नहीं, हमारे पास 30% सरप्लस सप्लाई

एनटीपीसी ने कहा कि दादरी प्लांट से जो बिजली का कोटा दिल्ली को मिला है नवंबर 2020 से उस कोटे की बिजली दिल्ली की कंपनियां नहीं खरीद रही हैं। दिल्ली सरकार ने आरोप लगाया था कि NTPC जरूरत का सिर्फ 50 फीसदी बिजली ही सप्लाई कर रही है।
Power Crisis: दिल्ली सरकार को NTPC का जवाब, कहा- बिजली की कमी नहीं, हमारे पास 30% सरप्लस सप्लाई

बिजली किल्लत के दिल्ली सरकार के आरोपों का एनटीपीसी ने जवाब दिया है। एनटीपीसी के मुताबिक, दिल्ली सरकार किल्लत की बात कर रही है लेकिन NTPC की क्षमता का 70 फीसदी ही बिजली दिल्ली की कंपनियां खरीद रही हैं। 30 फीसदी बिजली दिल्ली की कंपनियां ख़रीद ही नहीं रहीं।

एनटीपीसी ने कहा कि दादरी प्लांट से जो बिजली का कोटा दिल्ली को मिला है नवंबर 2020 से उस कोटे की बिजली दिल्ली की कंपनियां नहीं खरीद रही हैं। दिल्ली सरकार ने आरोप लगाया था कि NTPC जरूरत का सिर्फ 50 फीसदी बिजली ही सप्लाई कर रही है।

एनटीपीसी ने अपने बयान में क्या कहा है?
एनटीपीसी ने कहा, ''दिल्ली में बिजली की कोई किल्लत नहीं है। कंपनियां NTPC की क्षमता का सिर्फ 70% बिजली खरीद रही हैं। दादरी-I प्लांट से नवंबर 2020 से किसी कंपनी ने बिजली नहीं खरीदी। दादरी-I प्लांट से दिल्ली को 756 मेगावाट बिजली का कोटा है. 3.2 रु./यूनिट की सस्ती दर पर बिजली देने के बाद भी नहीं खरीद रहे।''

दिल्ली सरकार ने क्या आरोप लगाए थे?
दिल्‍ली के ऊर्जा मंत्री सत्‍येंद्र जैन ने सोमवार को कहा कि देश में ऊर्जा संकट है और केंद्र सरकार को इसे एक समस्‍या की तरह लेना चाहिए। मंत्री के अनुसार, दिल्‍ली सरकार ज्‍यादातर बिजली NTPC से खरीदती है मगर उसने अपने प्‍लांट्स पर उत्‍पादन में 50% की कटौती कर दी है।

जैन ने कहा, 'समझौते के अनुसार, सालभर में 85% समय के लिए NTPC को पूरी बिजली सप्‍लाई करनी होती है और बाकी 15% में यह 55% तक जा सकती है। लेकिन ऐसा एक वक्‍त पर सभी प्‍लांट्स के लिए नहीं किया जा सकता। आमतौर पर NTPC दिल्‍ली को करीब 4,000 मेगावॉट बिजली देता है लेकिन अब वह इसका आधा भी सप्‍लाई नहीं कर पा रही।'

बिजली मंत्री ने दावा, ''नेशनल थर्मल पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड (एनटीपीसी) को खरीद समझौते के तहत दिल्ली को 3,500 मेगावाट बिजली देनी है लेकिन केवल 1,750 मेगावाट बिजली की आपूर्ति की जा रही, जो समझौते से आधी है।''

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.