केंद्र द्वारा बनाए गए अधिनियम के खिलाफ मुख्यमंत्री केजरीवाल का प्रदर्शन

केंद्र द्वारा बनाए गए अधिनियम के खिलाफ मुख्यमंत्री केजरीवाल का प्रदर्शन

आम आदमी पार्टी ने केंद्र की भाजपा सरकार द्वारा संसद में लाए गए राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (संशोधन) अधिनियम-2021 के विरोध में जंतर-मंतर पर विरोध प्रदर्शन किया। इस प्रदर्शन में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी शामिल हुए।

आम आदमी पार्टी ने केंद्र की भाजपा सरकार द्वारा संसद में लाए गए राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (संशोधन) अधिनियम-2021 के विरोध में जंतर-मंतर पर विरोध प्रदर्शन किया। इस प्रदर्शन में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी शामिल हुए।

केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि संशोधित बिल के अनुसार, अब दिल्ली सरकार का मतलब एलजी होगा और सभी फाइलें एलजी के पास जाएंगी, यह तो जनता के साथ धोखा है।

केजरीवाल ने कहा कि, "दिल्ली कोने-कोने से बड़ी संख्या में जंतर मंतर पर विरोध-प्रदर्शन करने के लिए आप लोग इकट्ठे हुए हैं। आप लोगों में गुस्सा है, आप लोग दुखी हैं, क्योंकि केंद्र की भाजपा सरकार ने संसद में अभी 3 दिन पहले एक कानून लेकर आई है। उस कानून में यह लिखा है कि अब से दिल्ली सरकार का मतलब होगा एलजी। फिर हमारा क्या मतलब होगा, फिर जनता का क्या मतलब होगा, फिर देश की जनता का क्या मतलब होगा। अगर दिल्ली सरकार का मतलब एलजी होगा, तो दिल्ली की जनता कहां जाएगी। दिल्ली की जनता की चलेगी या नहीं चलेगी, मुख्यमंत्री कहां जाएगा। फिर चुनाव क्यों कराए थे।"

मुख्यमंत्री ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि अब कोई भी फाइल एलजी के पास नहीं जाया करेगी। लेकिन केंद्र द्वारा बनाए इस कानून में लिखा है कि अब दिल्ली सरकार की सारी फाइलें एलजी के पास जाया करेंगी।

आप संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अब इन्होंने कानूनी में लिख दिया है कि सारी फाइलें एलजी के पास जाया करेंगी। ये जनता को नहीं मानते, ये सुप्रीम कोर्ट को नहीं मानते, ये जनतंत्र को नहीं मानते, ये संविधान को नहीं मानते, यह तो गलत बात है।

आप संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि, "दिल्ली के अंदर जो काम हो रहा है, आज पूरे देश के अंदर उसकी चर्चा हो रही है। दिल्ली के अंदर शिक्षा के क्षेत्र बहुत अच्छा काम हो रहा है। सरकारी स्कूलों का कायापलट हो गया, प्राइवेट स्कूलों की फीस नहीं बढ़ने दी, इतने शानदार काम दिल्ली के स्कूलों में हो रहे हैं, यह कानून शिक्षा के अच्छे कामों को बंद करने के लिए बनाया गया है। वो नहीं चाहते हैं कि दिल्ली के अंदर आम आदमी पार्टी अच्छा काम करती रहे, क्योंकि दिल्ली के अंदर अच्छा काम हो रहा है, तो इनको सूरत के अंदर तकलीफ हो रही है, कर्नाटक के अंदर इनको तकलीफ हो रही है।"

केजरीवाल ने केंद्र सरकार से अपील करते हुए कहा कि आज इतने लोग यहां इकट्ठा हुए हैं, यह तो फिर भी थोड़े ही लोग आए हैं। इन्हें कम मत आंकिए। मैं देख रहा था कि तीन-चार दिनों से सारे टीवी चैनल वाले सर्वे चला रहे हैं, उसमें दिल्ली के 90 प्रतिशत लोग कह रहे हैं कि केंद्र सरकार गलत कर रही है। सर्वे में भी यही आ रहा है।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news