1 सितंबर से फिर से खुल रहे दिल्ली के स्कूल-कॉलेज, जारी हुई SOP

राष्ट्रीय राजधानी में स्कूलों को फिर से खोलने के लिए दिशानिर्देश जारी करते हुए डीडीएमए ने सोमवार को कहा कि कक्षाओं में अधिकतम 50 प्रतिशत छात्रों को बैठने की अनुमति होगी।
1 सितंबर से फिर से खुल रहे दिल्ली के स्कूल-कॉलेज, जारी हुई SOP

दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने स्कूल, कॉलेज खोलने और कक्षाएं संचालित करने के लिए एक गाइडलाइन जारी की है, जिसे ध्यान में रखते हुए एक सितंबर से स्कूल खुलेंगे।

राष्ट्रीय राजधानी में स्कूलों को फिर से खोलने के लिए दिशानिर्देश जारी करते हुए डीडीएमए ने सोमवार को कहा कि कक्षाओं में अधिकतम 50 प्रतिशत छात्रों को बैठने की अनुमति होगी।

दरअसल डीडीएमए की एक कमेटी ने दिल्ली में स्कूलों को फिर से खोलने पर एक रिपोर्ट राज्य सरकार को सौंपी थी, जिसमें ऑफलाइन कक्षाओं को फिर से शुरू करने की सिफारिश की गई थी। इसके बाद फैसला लिया गया कि एक सितंबर से चरणबद्ध तरीके से स्कूल फिर से खोले जाएंगे। कक्षा 9 से 12 तक के छात्रों की कक्षाएं 1 सितंबर से शुरू होंगी। कक्षा 6 से 8 तक की कक्षाएं एक सप्ताह बाद शुरू होंगी।

डीडीएमए की अधिसूचना में कहा गया है, सभी कक्षाएं 50 प्रतिशत क्षमता पर काम करेंगी; सभी शैक्षणिक संस्थानों में अनिवार्य क्वारंटीन सेंटर्स होंगे; उपस्थिति अनिवार्य नहीं होगी और ऑनलाइन और ऑफलाइन कक्षाएं समानांतर आयोजित की जाएंगी।

स्कूल अधिकारियों को प्रत्येक कक्षा की अधिभोग सीमा के अनुसार समय सारिणी तैयार करने के लिए कहा गया है। अपने नए निर्देश में, डीडीएमए ने कहा है कि शैक्षणिक संस्थानों को छात्रों, शिक्षकों और अन्य कर्मचारियों की सुरक्षा सुनिश्चित करते हुए उसके निर्देशों का पालन करने की आवश्यकता है।

इसके अलावा, प्राधिकरण ने स्कूल परिसर में भीड़ से बचने के लिए लंच ब्रेक को अलग करने का निर्देश दिया है। डीडीएमए ने सुझाव दिया है कि लंच ब्रेक केवल खुले क्षेत्रों में ही आयोजित किया जाना चाहिए।

स्कूलों और कॉलेजों को आपातकालीन उपयोग के लिए क्वारंटीन कक्ष स्थापित करने और नियमित अतिथि यात्राओं (रूटीन गेस्ट विजिट) से बचने के लिए कहा गया है।

डीडीएमए ने स्कूलों को निर्देश दिया है कि वे कोविड कंटेनमेंट जोन में रहने वाले छात्रों और शिक्षकों को शैक्षणिक संस्थानों में नहीं आने दें।

1 सितंबर से कक्षा 9 से 12 तक सभी सरकारी स्कूल खुलेंगे, सभी निजी स्कूल भी 9 से 12वीं कक्षा के लिए कक्षाएं फिर से शुरू कर सकते हैं। कोचिंग सेंटर 9 से 12वीं कक्षा के छात्रों के लिए भी कक्षाएं शुरू कर सकते हैं। अभी तक जूनियर कक्षाओं को फिर से खोलने पर कोई निर्णय नहीं लिया गया है।

दिल्ली में कोविड-19 की स्थिति में उल्लेखनीय सुधार को देखते हुए अधिकारियों ने स्कूलों को फिर से खोलने का फैसला किया।

दिल्ली में स्कूल पिछले साल मार्च से बंद हैं, जब देश में पहली बार कोविड-19 मामले बढ़ने लगे थे और लॉकडाउन की घोषणा की गई थी। इस साल जनवरी और फरवरी में एक संक्षिप्त अवधि के लिए कक्षाएं फिर से शुरू हुईं, लेकिन अप्रैल में निलंबित कर दी गईं, क्योंकि कोविड-19 की दूसरी लहर ने कहर बरपाना शुरू कर दिया था।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news