दिल्ली: चिड़ियाघर खुलने से उत्साहित पर्यटक, सोशल डिस्टेंसिंग रही नदारद

दिल्ली: चिड़ियाघर खुलने से उत्साहित पर्यटक, सोशल डिस्टेंसिंग रही नदारद

कोरोना वायरस के चलते साल भर से बंद पड़ा दिल्ली चिड़ियाघर आज से लोगों के लिए खुल गया। इस दौरान देशभर के विभिन्न जगहों से पहुंचे लोग काफी उत्साहित नजर आए।

कोरोना वायरस के चलते साल भर से बंद पड़ा दिल्ली चिड़ियाघर आज से लोगों के लिए खुल गया। इस दौरान देशभर के विभिन्न जगहों से पहुंचे लोग काफी उत्साहित नजर आए। जिनमें बच्चे भी शामिल थे, हालांकि चिड़ियाघर देखने पहुंचे लोगों को ऑनलाइन टिकट करने में समस्याओं का सामना करना पड़ा तो वहीं चिड़ियाघर के एंट्री पॉइंट पर शोशल डिस्टनसिंग भी नदारद रही।

छोटे छोटे बच्चे चिड़ियाघर देखने के लिए बड़े ही उत्साहित नजर आए, छोटे बच्चे हाथी और टाइगर देखने के लिए बेहद उत्साहित है। दिल्ली के एक स्कूल में तीसरी कक्षा में पढ़ने वाली नायरा सिक्का ने बताया मैं ऑस्ट्रिच देखने आई हूँ। हालांकि उन्हें बताया गया कि ऑस्ट्रिच अभी नहीं है। तब उन्होंने कहा कि मैं हाथी देखूंगी।

कोरोना के चलते चिड़ियाघर में बेहद सीमित संख्या में पर्यटकों को एंट्री दी जा रही है, वहीं लोगों को टिकट ऑनलाइन ही मिलेगा। जिसके लिए लोग सुबह से ही जद्दोजहद करते नजर आए। ओटीपी न आने की समस्या , पेमेंट न हो पाना, सर्वर डाउन की समस्या पर्यटकों को झेलनी पड़ी।

हालांकि पयर्टकों की मदद के लिए चिड़ियाघर में आये अन्य पर्यटक मदद करते नजर आए। उत्तरप्रदेश से चिड़ियाघर देखने पहुंचे एक पयर्टक सनी ने आईएएनएस को बताया कि, सर्वर डाउन की समस्या आ रही है, करीब घँटे भर से कोशिश कर रहा हूं। हम चाहते है कि कोई हमारी मदद करदें।

पर्यटक जतिन ने आईएएनएस को बताया कि, सर्वर की समस्या आ रही है, पिछले आधे घँटे से कोशिश कर रहें है लेकिन पेमेंट नहीं हो सका है।

कुछ पर्यटकों की माने की तो वेबसाइट पर जैसे ही पेमेंट करने जाते है तो फिर से शुरूआत का ही पेज खुल रहा है।

दिल्ली चिड़ियाघर निदेशक रमेश कुमार पांडेय ने आईएएनएस को बताया, साल भर बाद चिड़ियाघर खुलने से पर्यटकों में उत्साह है और चिड़ियाघर के स्टाफ में भी उत्साह है। कोरोना महामारी को देखते हुए हमारे लिए चुनौती है, जिसके लिए हमसे खास तैयारी की।

ऑनलाइन पेमेंट के चलते भी चुनौती है कुछ समस्याएं आ रहीं है। हम उसको भी दूर करने की कोशिश की जा रही है।

आज पहला दिन था, पेमेंट करने वाले कार्ड रीडर्स को बढ़ाया जाए इसपर विचार किया जाएगा। वेबसाइट पर सभी तरह के पेमेंट करने के ऑप्शन्स है। नेटवर्क के समस्या को भी दूर किया जाएगा। वहीं हम इसपर भी विचार करेंगे कि चिड़ियाघर के एंट्री पॉइंट पर सोशल डिस्टेंसिंग को कैसे ध्यान में रखें।

हालांकि कोरोना महामारी के चलते बंद हुआ चिड़ियाघर में खुलने के बाद किसी तरह के कोई पर्यटकों के लिए निशान नहीं बनाए गए हैं जिससे कि सामाजिक दूरी बरकरार रहे।

चिड़ियाघर के अंदर जाने के लिए लंबी कतारें तो लगी लेकिन 2 गज दूरी कहीं नजर नहीं आई। लोग एक दूसरे से सट कर खड़े हुए। हालांकि पर्यटकों को अंदर भेजने से पहले थर्मल स्क्रीनिंग और सेनिटाइज जरूर किया गया। वहीं प्रयटक और चिड़ियाघर का स्टाफ मुंह पर मास्क भी लगाए हुए नजर आए।

चिड़ियाघर में पेमेंट करने वाले कार्ड रीडर्स भी कम लगाए गए हैं जिसकी वजह से लोग एक ही जगह एक साथ इखट्टा हो रहें है। हालांकि चिड़ियाघर अधिकारियों की माने तो कार्ड रीडर बढ़ाये जाएंगे।

पर्यटकों की माने तो चिड़ियाघर में व्यवस्था ठीक है लेकिन एंट्री लाइन में डिस्टेंसिंग नहीं है। कुछ पर्यटकों ने अपनी प्रितिक्रियां देते हुए कहा कि, कोरोना गाइडलाइंस का पालन तो हो रहा है लेकिन सही से नहीं हो रहा है।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news