मध्य प्रदेश: आंगनवाड़ी केंद्रों में 15 नवंबर से फिर लौटेगी चहल-पहल, कोरोना संक्रमण के कारण थे बंद

मध्य प्रदेश में कोरोना के संक्रमण केा रोकने के लिए बंद किए गए महिला एवं बाल विकास की आंगनवाड़ी केंद्रो में फिर चहल पहल लौटने वाली है, क्योंकि यह केद्र 15 नवंबर से शुरु हो रहे हैं।
मध्य प्रदेश: आंगनवाड़ी केंद्रों में 15 नवंबर से फिर लौटेगी चहल-पहल, कोरोना संक्रमण के कारण थे बंद

मध्य प्रदेश में कोरोना के संक्रमण केा रोकने के लिए बंद किए गए महिला एवं बाल विकास की आंगनवाड़ी केंद्रो में फिर चहल पहल लौटने वाली है, क्योंकि यह केद्र 15 नवंबर से शुरु हो रहे हैं।

ज्ञात हो कि कोरोना संक्रमण के दौरान यह केंद्र बंद थे और इस दौरान केंद्र की सेवाएं और पूरक पोषण आहार की मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) के अनुसार घर-घर जाकर दी जा रही थीं। अब सतना जिले के आंगनवाड़ी केंद्र 15 नवंबर से फिर खोले जा रहे हैं।

जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला बाल विकास सौरभ सिंह ने बताया कि शासन के निदेर्शानुसार 15 नवंबर से आंगनवाड़ी केंद्रों का संचालन स्थानीय जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में हितग्राहियों के साथ आइए आंगनबाड़ी थीम पर समारोह पूर्वक प्रारंभ किया जाएगा।

इस दिन कार्यक्रम का आयोजन कर स्थानीय समुदाय के सहयोग से खाद्य विविधता आधारित विशेष भोजन तैयार कर हितग्राहियों को परोसा जाएगा। कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के सुरक्षात्मक उपाय का पालन करते हुए पूर्व की भांति नियत समय-सारणी अनुसार आंगनवाड़ी केंद्रों का संचालन किया जाएगा।

बताया गया है कि कोविड-19 संक्रमण काल में तीन से छह वर्ष तक की आयु वर्ग के बच्चों को पूर्व में प्रदाय किया जा रहा रेडी-टू-ईट सामग्री का वितरण स्थगित कर बच्चों को नाश्ता एवं पका हुआ गर्म भोजन प्रदाय किया जाएगा। सभी आंगनवाड़ी केंद्रों को आवश्यक रिकॉडरें का संधारण कर तीन से छह वर्ष के आयु वर्ग के बच्चों को तय दिषा निर्देशों के अनुसार नाश्ता एवं ताजा गर्म पका भोजन प्रदाय किया जाएगा।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news