मध्य प्रदेश: पन्ना में NMDC बनाएगा 100 बिस्तर का कोविड अस्पताल

मध्य प्रदेश के पन्ना जिले में नेशनल मिनरल डेवलपमेंट कार्पोरेशन (एनएमडीसी) ने सौ बिस्तर के कोविड अस्पताल खोलने के लिए लगभग ढाई करोड़ रुपए की राशि मंजूर की है।
मध्य प्रदेश: पन्ना में NMDC बनाएगा 100 बिस्तर का कोविड अस्पताल

मध्य प्रदेश के पन्ना जिले में नेशनल मिनरल डेवलपमेंट कार्पोरेशन (एनएमडीसी) ने सौ बिस्तर के कोविड अस्पताल खोलने के लिए लगभग ढाई करोड़ रुपए की राशि मंजूर की है। इस संदर्भ में खजुराहो के क्षेत्रीय सांसद विष्णु दत्त शर्मा ने इसी साल मई माह में केंद्रीय इस्पात राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते को पत्र लिखा था।

मिली जानकारी के अनुसार एनएमडीसी पन्ना की पूर्व कॉलोनी में सौ बिस्तरों के कोविड अस्पताल के लिए 2.46 करोड़ रुपए की राशि कंपनी सोशल रिस्पॉसबिलिट (सीएसआर) के तहत मंजूर की है। एनएमडीसी के इस निर्णय पर सांसद व प्रदेशाध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा ने राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते व एनएमडीसी प्रबंधन का आभार माना है।

ज्ञात हो कि सांसद शर्मा ने मई माह में राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते को पत्र लिखकर बताया था कि पन्ना में स्वास्थ्य सेवाएं विकसित नहीं हैं। इसलिए कोरोना की तीसरी लहर को ध्यान में रखकर पूर्व से ही व्यवस्थाएं किया जाना जरुरी है।

पन्ना जिला चिकित्सालय में 100 बिस्तर और 35 ऑक्सीजन बेड उपलब्ध हैं, इस तरह कुल 135 ऑक्सीजन बेड हैं। कोरोना की दूसरी लहर में यह बात सामने आई है कि संक्रमण अधिक होने पर यह व्यवस्थाएं पर्याप्त नहीं है। इसलिए एनएमडीसी की पूर्व कॉलोनी में सौ बिस्तर का कोविड अस्पताल स्थापित किया जाए।

एनएमडीसी में कोविड अस्पताल खोलने संदर्भ में कलेक्टर संजय मिश्रा ने भी एनएमडीसी महाप्रबंधक को 22 मई को पत्र लिखा था। जिसमें भवन संरचना, विद्युतीकरण, पेयजल, चिकित्सा उपकरण, एक्स-रे, पैथालॉजी सहित अन्य सामग्री पर होने वाले व्यय का भी ब्यौरा दिया गया।

बुंदेलखंड के इस जिले में स्वास्थ्य सुविधाओं का अन्य स्थानों की तुलना में संकट ज्यादा होता है, इसकी वजह है क्योंकि पन्ना से तमाम चिकित्सा महाविद्यालय डेढ़ सौ से दो सौ किलोमीटर की दूरी पर है और गंभीर मरीजों को दूसरे स्थान पर ले जाना ज्यादा खतरनाक होता है। एनएमडीसी के सहयोग से बनने वाले अस्पताल से कोरोना की तीसरी लहर के दौरान लोगों को बेहतर चिकित्सा सुविधा तो मिल ही सकेगी।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news