मध्य प्रदेश: गुना में काले हिरण के शिकारियों की पुलिस से मुठभेड़, SI समेत तीन पुलिसकर्मियों शहीद

गोली लगने से एसआई राजकुमार जाटव, प्रधान आरक्षक नीरज भार्गव और आरक्षक संतराम मीना की मौके पर ही मौत हो गई। बताया जा रहा है कि शिकारी काले हिरण और मोर को मारकर ले जा रहे थे।
मध्य प्रदेश: गुना में काले हिरण के शिकारियों की पुलिस से मुठभेड़, SI समेत तीन पुलिसकर्मियों शहीद

मध्य प्रदेश के गुना में पुलिस और शिकारियों के बीच शुक्रवार-शनिवार की देर रात मुठभेड़ हो गईं। इस मुठभेड़ में शिकारियों ने आरोन थाने के एसआई समेत तीन पुलिसकर्मियों पर ताबड़तोड़ गोलियां चला दी।

गोली लगने से एसआई राजकुमार जाटव, प्रधान आरक्षक नीरज भार्गव और आरक्षक संतराम मीना की मौके पर ही मौत हो गई। बताया जा रहा है कि शिकारी काले हिरण और मोर को मारकर ले जा रहे थे।

वहीं, अब इस घटना को लेकर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने आवास पर बैठक बुलाई है।

जानकारी के मुताबिक, आरोन थान पुलिस को सूचना मिली थी कि शहरोक गांव की पुलिया से आगे मौनवाड़ा के जंगल में शिकारियों द्वारा काले हिरण और मोर का शिकार किया गया है।

इस सूचना पर आरोन पुलिस स्टेशन के एसआई राजकुमार जाटव, प्रधान आरक्षक नीरज भार्गव और आरक्षक संतराम मीना सहित सात पुलिसकर्मी जंगल की ओर रवाना हुए। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पुलिस ने इस दौरान तीन शिकारियों को पकड़ लिया।

हालांकि, तभी पीछे से आए उनके अन्य साथियों ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी। इसमें तीन पुलिसकर्मियों में से सभी सात से आठ गोलियां लगने से मौके पर मौत हो गई, जबकि अन्य भाग निकले।

मुठभेड़ में पुलिसकर्मी राजकुमार जाटव, नीरज भार्गव और संतराम शामिल की मौत हो गई हैं। वहीं सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल से से हिरण, मोर के शव भी बरामद किए हैं।

जबकि आरोपित फरार हो गए हैं। इधर, अभी कोई पुलिस अधिकारी ज्यादा कुछ जानकारी देने से बचते नजर आ रहे हैं।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.