मप्र में नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव की तैयारियां

मध्य प्रदेश में नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव की तैयारी तेज हो गई हैं। नगरीय निकाय चुनाव दो चरणों मे होंगे, साथ ही महापौर और अध्यक्ष के चुनाव अप्रत्यक्ष प्रणाली से कराए जाने वाले हैं।
मप्र में नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव की तैयारियां

मध्य प्रदेश में नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव की तैयारी तेज हो गई हैं। नगरीय निकाय चुनाव दो चरणों मे होंगे, साथ ही महापौर और अध्यक्ष के चुनाव अप्रत्यक्ष प्रणाली से कराए जाने वाले हैं। राज्य निर्वाचन आयुक्त बसंत प्रताप सिंह ने चुनाव की तैयारियों की समीक्षा करते हुए कहा नगरीय निकाय आम निर्वाचन की तैयारी समय-सीमा में पूरी करें। निर्वाचन से संबंधित जो कार्यवाही शेष है, उसकी सूची बनायें और प्रत्येक कार्य समय पर करें। तैयारी पूरी होते ही आम निर्वाचन की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी जायेगी।

राज्य निर्वाचन आयुक्त सिंह ने कहा कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण के प्रभावी नियंत्रण और वैक्सीनेशन की स्थिति के मद्देनजर वर्तमान में आम निर्वाचन करवाया जाना संभव है कोरोना के कारण पहले से ही आम निर्वाचन बहुत लेट हो चुके हैं। पहले नगरीय निकायों के निर्वाचन करवाये जायेंगे।

बैठक में जानकारी दी गई कि प्रदेश में कुल 407 नगरीय निकाय हैं। इनमें से 347 में आम निर्वाचन कराया जाना है। दो चरण में मतदान होगा। प्रथम चरण में 155 और दूसरे चरण में 192 नगरीय निकायों में मतदान कराया जायेगा। महापौर और अध्यक्ष का निर्वाचन अप्रत्यक्ष प्रणाली से होगा। इन 347 नगरीय निकायों में सभी 16 नगर निगम शामिल हैं। कुल 19 हजार 955 मतदान केन्द्र बनाये गए हैं। कुल अभी 60 नगरीय निकायों का कार्यकाल बाकी है। मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन 3 मार्च 2021 को हो चुका है। नगरीय निकायों में मतदान ईवीएम से कराये जायेंगे।

पंचायत आम निर्वाचन तीन चरण में करवाये जायेंगे। त्रि-स्तरीय पंचायतों में पंच के तीन लाख 77 हजार 551, सरपंच के 23 हजार 912, जनपद पंचायत सदस्य के छह हजार 833, जिला पंचायत सदस्य के 904, उप सरपंच के 23 हजार 912, जनपद पंचायत अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष के 313 और जिला पंचायत अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष के 52 पदों का निर्वाचन कराया जायेगा।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news