मप्र में 18 वर्ष से अधिक के वर्ग का वैक्सीनेशन बुधवार से

मप्र में 18 वर्ष से अधिक के वर्ग का वैक्सीनेशन बुधवार से

मध्य प्रदेश में 18 वर्ष की आयु से अधिक के लेागों का पांच मई बुधवार से निशुल्क वैक्सीनेशन हेाने जा रहा है। इसकी राज्य सरकार ने तैयारियां भी पूरी कर ली है।

मध्य प्रदेश में 18 वर्ष की आयु से अधिक के लेागों का पांच मई बुधवार से निशुल्क वैक्सीनेशन हेाने जा रहा है। इसकी राज्य सरकार ने तैयारियां भी पूरी कर ली है। पहले इस आयु समूह के लेागों को एक मई से वैक्सीन का डोज दिया जाने वाला था मगर वैक्सीन की अनुपलब्धता के चलते ऐसा नहीं हो पाया था।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोविड की रोकथाम एवं व्यवस्थाओं के संबंध में वीडियो कॉन्फ्रेंसिग द्वारा कोविड कोर ग्रुप की बैठक में कहा है कि 18 से 45 वर्ष के व्यक्तियों के निशुल्क वैक्सीनेशन का कार्य पांच मई से प्रारम्भ होगा। वैक्सीनेशन के लिए पांच करोड़ 29 लाख डोजेस की संभावित आवश्यकता के ²ष्टिगत दोनों वैक्सीन निमार्ताओं को क्रय आदेश जारी किए गए हैं।

वैक्सीनेशन के लिए डोजेस की जल्द से जल्द आपूर्ति के लिए आयात की संभावनाओं का भी परीक्षण किया जा रहा है। वहीं 45 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों का वैक्सीनेशन कार्य यथावत जारी रहेगा।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा है कि ग्रामीण अंचल में होम आइसोलेशन व्यवस्था की प्रभावी निगरानी सुनिश्चित की जाए। पंचायत ग्रामीण विकास, वन, स्वास्थ्य विभाग का अमला और स्थानीय जन-प्रतिनिधि समन्वय और सामंजस्य बना कर व्यवस्था को पुख्ता करें।

घर पर आइसोलेशन के लिए आवश्यक व्यवस्थाओं का अभाव होने पर संक्रमित व्यक्ति को कोविड केयर सेंटर में स्थान्तरित किया जाए। आवश्यकता होने पर वाहन की व्यवस्था भी की जा सकती है।

उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य संबंधी जांच निर्धारित दरों पर हो, इस व्यवस्था को कड़ाई के साथ लागू किया जाए और निर्धारित दर से अधिक मूल्य के मामलों में कठोर कार्रवाई की जाए।

ज्ञात हो कि राज्य सरकार ने एक मई से 18 साल और उससे अधिक की आयु समूह के लोगों को एक मई से वैक्सीन का डोज देने का फैसला लिया था, मगर निमार्ताओं द्वारा वैक्सीन उपलब्ध न कराए जाने पर इसे टालना पड़ा था। अब पांच मई से वैक्सीनेशन की बात कही जा रही है।

राज्य सरकार पर तंज कसते हुए पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा कि शिवराज जी, 'आप खुद कह रहे हैं कि इस कोरोना महामारी पर नियंत्रण के लिए वैक्सीनेशन का काम तेजी से होना बेहद आवश्यक है और आप खुद बता रहे हैं कि प्रदेश में 18 वर्ष से 44 वर्ष तक के लोगों को वैक्सीनेशन के लिए कुल पांच करोड़ 29 लाख डोज की आवश्यकता है।'

कमलनाथ ने मुख्यमंत्री से सवालिया अंदाज में आगे कहा कि 'आप पांच मई से प्रदेश में इस आयु वर्ग के लोगों के लिये वैक्सिनेशन कार्यक्रम को शुरू करने की बात कह रहे है, जो कि एक मई से प्रारंभ होना था लेकिन यह घोषणा भी चुनावी जुमला ही साबित हुई। आप का यह वैक्सिनेशन कार्यक्रम देख कर आश्चर्य भी हो रहा है और कई सवाल भी खड़े हो रहे है ?'

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news