मुंबई पर मंडराया चक्रवात तौकते, कई पेड़ धराशायी, घरों को नुकसान

चक्रवाती तूफान तौकते ने सोमवार को मुंबई में जोरदार तबाही मचाई। करीब 60-75 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार के साथ तेज आंधी ने मुंबई में जोरदार तबाही मचाई जिसमें कई पेड़ टूट गए और कुछ घरों को नुकसान पहुंचा।
मुंबई पर मंडराया चक्रवात तौकते, कई पेड़ धराशायी, घरों को नुकसान

चक्रवाती तूफान तौकते ने सोमवार को मुंबई में जोरदार तबाही मचाई। करीब 60-75 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार के साथ तेज आंधी ने मुंबई में जोरदार तबाही मचाई जिसमें कई पेड़ टूट गए और कुछ घरों को नुकसान पहुंचा । सड़क पर यातायात बाधित हो गया लेकिन किसी के हताहत होने की खबर सामने नहीं आई है। इसकी जानकारी अधिकारियों ने दी।

'बेहद गंभीर चक्रवाती तूफान' के रूप में वर्गीकृत, इसके प्रभाव रविवार-सोमवार की आधी रात के तुरंत बाद महसूस किए गए। कई क्षेत्रों में भारी बारिश हुई, कुछ स्थानों में गरज और बिजली के साथ तेज हवाएं भी चलीं। उसके बाद यह सिंधुदुर्ग से उत्तर की ओर घूम गया था । अब ये रत्नागिरी रायगढ़-मुंबई की ओर से गुजरात तट के पास पहुंचेगा।

एक अधिकारी ने कहा कि एक बड़े एहतियाती उपाय के तौर पर राज्य के अधिकारियों ने सिंधुदुर्ग, रत्नागिरी और ठाणे में लगभग 4,000 के अलावा तट के साथ संवेदनशील स्थानों से 7,866 लोगों को पहले ही स्थानांतरित कर दिया है।

सोमवार की सुबह तक, शहर में 8.37 मिमी बारिश दर्ज की गई थी। पूर्वी उपनगरों में 6.53 मिमी और पश्चिमी उपनगरों में 3.92मिमी बारिश दर्ज की गई। इसने मौसम को काफी हद तक ठंडा कर दिया था, क्योंकि मुंबई का पारा 30-40 डिग्री तक छू रहा था।

मुंबई और ठाणे के अलग-अलग हिस्सों में रात के समय कम से कम 30 बड़े और छोटे पेड़ उखड़ गए और कई घरों को मामूली नुकसान पहुंचा, कई सड़कों पर पानी भर गया।

मौसम विभाग के ताजा चेतावनी बुलेटिन में कहा गया है कि चक्रवात मुंबई तट से करीब 160 किलोमीटर दूर मंडरा रहा था और आज आधी रात तक इसके गुजरात पहुंचने की संभावना है।

इसके साथ 180-190 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से 210 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चल रही हैं।

मौसम विभाग ने दिन के दौरान मुंबई, रायगढ़, रत्नागिरी, सिंधुदुर्ग, ठाणे और पालघर में 75-100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने की चेतावनी दी है और लोगों को बाहर नहीं निकलने के लिए कहा है।

इनके संयुक्त प्रभाव के कारण झागदार अरब सागर में 'अभूतपूर्व' लहरें उठी हैं । समुद्री लहरें 3 मीटर तक की ऊंचाई तक पहुंच गई हैं । अधिकारियों ने अगले कुछ दिनों के लिए मछली पकड़ने और अन्य समुद्री गतिविधियों पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया है।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news