नवाब मालिक ने समीर वानखेड़े के खिलाफ पेश किया सबूत, स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट में लिखा है मुस्लिम धर्म

यह दोनों सर्टिफिकेट समीर वानखेडे के हैं, जिनमें उनका पूरा नाम समीर दाऊद वानखेडे़ लिखा है। इसके अलावा मलिक ने वानखेड़े पर जाली नोट नेटवर्क के भी आरोप लगाए हैं।
नवाब मालिक ने समीर वानखेड़े के खिलाफ पेश किया सबूत, स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट में लिखा है मुस्लिम धर्म

मुंबई में क्रूज ड्रग्स पार्टी को लेकर महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक ने गुरुवार को एक नया खुलासा किया। एनसीपी नेता मलिक ने नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े का धर्म बताने के लिए स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट जारी कर दिया। मलिक ने इस सर्टिफिकेट को जारी कर वानखेड़े पर मुस्लिम होने का आरोप लगाया। मलिक ने दो सर्टिफिकेट को पेश किया है, जो सेंट जोसेफ हाई स्कूल और सेंट पॉल हाई स्कूल का लिविंग सर्टिफिकेट है। यह दोनों सर्टिफिकेट समीर वानखेडे के हैं, जिनमें उनका पूरा नाम समीर दाऊद वानखेडे़ लिखा है। इसके अलावा मलिक ने वानखेड़े पर जाली नोट नेटवर्क के भी आरोप लगाए हैं।

सच का आईना ज़माने को दिखाते जाएंगे- मलिक

इसके साथ ही उन्होंने एक ट्वीट किया, जिसमें उन्होने लिखा, 'सच का आइना जमाने को दिखाते जाएंगे झूठ की सारी दीवारों को गिराते जाएंगे।'

वानखेड़े और काफिश खान के बीच क्या संबंध?

बीते मंगलवार को नवाब मलिक ने कहा कि नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) क्रूज पार्टी के आयोजक काशिफ खान को बचाने की कोशिश कर रही है। मलिक ने पूछा है कि मुंबई एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े और काफिश खान के बीच क्या संबंध हैं? मलिक ने मंगलवार को कहा कि वो यह जानना चाहते हैं कि एनसीबी क्रूज पार्टी के आयोजकों में से एक काशिफ खान को क्यों बचा रही हैं? उन्होंने पूछा कि ड्रग एजेंसी के अधिकारी समीर वानखेड़े के साथ काशिफ के क्या संबंध थे?

मलिका ने दावा किया कि खान और वानखेड़े के बीच मजबूत रिश्ता है। इसके अलावा मलिक ने एनसीबी के गवाह केपी गोसावी और दिल्ली के एक 'मुखबीर' के कथित चैट को भी ट्वीट किया, जिसमें कहा गया 'वे उन लोगों को फंसाने की योजना बना रहे थे जो कॉर्डेलिया क्रूज पर पार्टी में शामिल होने जा रहे थे।' 

वानखेड़े पर लगातार हमलावर हैं नवाब मलिक

बता दें कि क्रूज ड्रग्स पार्टी मामले में आर्यन खान की गिरफ्तारी के बाद से ही नवाब मलिक समीर वानखेड़े पर हमलावर हैं। हालांकि, आर्यन की जेल से रिहाई हो चुकी है और वानखेड़े भी फिलहाल इस मामले की जांच से बाहर है। बावजूद इसके एनसीपी नेता वानखेड़े पर आए दिन अलग अलग तरह के आरोप लगा रहे हैं।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news