हाई कोर्ट पहुंचा अलवर में मंदिर तोड़ने का मामला, राजस्थान सरकार के खिलाफ याचिका दायर

सोमवार को राजस्थान उच्च न्यायालय में एडवोकेट अमितोष पारीक की ओर से याचिका लगाई गई है जिसमें राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ जिला कलेक्टर, सब डिविशनल मजिस्ट्रेट, एग्जीक्यूटिव अफसर नगरपालिका अवं अन्य को पार्टी बनाया गया है।
हाई कोर्ट पहुंचा अलवर में मंदिर तोड़ने का मामला, राजस्थान सरकार के खिलाफ याचिका दायर

राजस्थान के अलवर जिले के सराय मोहल्ले में 300 साल पुराना शिव मंदिर तोड़े जाने का मामला सड़क से लेकर अब राजस्थान हाइकोर्ट पहुंच चुका है। इस मामले में सोमवार को राजस्थान उच्च न्यायालय में एडवोकेट अमितोष पारीक की ओर से याचिका (पीआईएल) लगाई गई है जिसमें राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ जिला कलेक्टर, सब डिविशनल मजिस्ट्रेट, एग्जीक्यूटिव अफसर नगरपालिका अवं अन्य को पार्टी बनाया गया है।

एडवोकेट अमितोष पारीक ने बताया कि राजगढ़ अलवर में सरकार द्वारा असंवैधानिक अवं कानून विरोधी तरीके से मास्टर प्लान की आड़ में आम जनता के घरों को व्यापारियों की दुकानों और प्राचीन शिव मंदिर के साथ अन्य मंदिरों को तोडा गया जिसके विरुद्ध हमने प्रकाश ठाकुरिया बनाम राज्य सरकार व अन्य के खिलाफ जनहित याचिका दायर कर दी है।

एडवोकेट पारीक ने बताया कि असंवैधानिक तरीके से तोड़फोड़ करना और शिव मंदिर को तोड़ने से हिन्दू समाज की भावनाओं को ठेस पहुची है और निर्दोष लोगों के मूल अधिकारों का हनन हुआ है.. इन सब बातों को ध्यान में रखकर हमने जनहित याचिका लगायी है।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.