राजस्थान: स्टूडेंट्स का विदेश में पढ़ाई का खर्च उठाएगी गहलोत सरकार

उच्च शिक्षा राज्य मंत्री भंवरसिंह भाटी ने बताया कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी की जयंती पर गत 20 अगस्त को इस योजना की घोषणा की थी।
राजस्थान: स्टूडेंट्स का विदेश में पढ़ाई का खर्च उठाएगी गहलोत सरकार

राजस्थान सरकार प्रदेश के 200 मेधावी विद्यार्थियों को विदेश के चुनिंदा 50 संस्थानों में उच्च अध्ययन की सुविधा मुहैया कराएगी। इसके लिए इसी सत्र से राजीव गांधी स्कॉलरशिप फॉर एकेडमिक एक्सीलेंस (आरजीएस) योजना शुरू की गई है, जिसके लिए आगामी 22 अक्टूबर से आवेदन किए जा सकेंगे।

उच्च शिक्षा राज्य मंत्री भंवरसिंह भाटी ने बताया कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी की जयंती पर गत 20 अगस्त को इस योजना की घोषणा की थी। विभाग ने तत्परता से कार्य करते हुए विस्तृत नियम बनाकर यह योजना इसी सत्र से लागू कर 22 अक्टूबर से आवेदन आमंत्रित किए हैं।

उन्होंने बताया कि इसके तहत ऑक्सफोर्ड, हार्वर्ड एवं स्टेनफोर्ड विश्वविद्यालय जैसी दुनिया की नामचीन 50 संस्थानों से स्नातक, स्नातकोत्तर, पीएचडी एवं पोस्ट डॉक्टोरल स्तर पर अध्ययन के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। विद्यार्थियों के यात्रा किराया, ट्यूशन फीस सहित सम्पूर्ण खर्चा राज्य सरकार वहन करेगी।

कॉलेज आयुक्त संदेश नायक ने योजना के अन्तर्गत आने वाले विषयों और उनसे संबंधित अवार्ड की जानकारी देते हुए बताया कि ह्यूमैनिटीज, सोशल साइंस, एग्रीकल्चर एंड फोरेस्ट साइंस, नेचर एंड एनवायरमेंटल साइंस एवं लॉ के लिए 150, मैनेजमेंट एंड बिजनस एडमिनिस्ट्रेशन एवं इकोनॉमिक्स एंड फाइनेंस के लिए 25 और प्योर साइंस एवं पब्लिक हेल्थ विषयों के लिए 25 विद्यार्थियों को स्कॉलरशिप दी जाएगी।

इन विषयों में स्थान रिक्त रहने की दशा में इंजीनियरिंग एंड रिलेटेड साइंस, मेडिसिन तथा एप्लाइड साइंस में अधिकतम 15 उम्मीदवारों को छात्रवृत्ति दी जा सकेगी।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.