जिला पंचायत के बाद ब्लॉक प्रमुख के चुनाव में भी भाजपा का परचम, 635 से ज्यादा सीटों पर जीत दर्ज

जिला पंचायत के बाद ब्लॉक प्रमुख के चुनाव में भी भाजपा का परचम, 635 से ज्यादा सीटों पर जीत दर्ज

जिला पंचायत चुनाव के बाद क्षेत्र पंचायत अध्यक्ष व ब्लॉक प्रमुख के चुनाव में भी भाजपा ने परचम फहराया है। शनिवार को हुए क्षेत्र पंचायत अध्यक्ष चुनाव में भाजपा ने 825 में से 735 क्षेत्र पंचायतों में चुनाव लड़कर 635 से ज्यादा सीटों पर जीत दर्ज की है।

जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव के बाद क्षेत्र पंचायत अध्यक्ष व ब्लॉक प्रमुख के चुनाव में भी भाजपा ने परचम फहराया है। शनिवार को हुए क्षेत्र पंचायत अध्यक्ष चुनाव में भाजपा ने 825 में से 735 क्षेत्र पंचायतों में चुनाव लड़कर 635 से ज्यादा सीटों पर जीत दर्ज की है।

भाजपा के प्रदेश मुख्यालय में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि ब्लाक प्रमुख के चुनाव में भी भाजपा का दबदबा है। 825 सीटों में से अब अब तक के आए नतीजों में भाजपा ने 635 सीटों पर जीत दर्ज कराई है। यह संख्या और बढ़ेगी।

इनमें 334 पहले ही निर्विरोध चुने गए थे। 476 पदों के लिए शनिवार को मतदान हुआ। सपा ने 100 से अधिक सीटें जीतने का दावा किया है। निर्दलीयों ने भी 70 से अधिक सीटों पर कब्जा जमाया है।

पश्चिमी से लेकर पूर्वी तथा मध्य उत्तर प्रदेश के साथ बृज क्षेत्र और बुंदेलखंड में भी भाजपा ने ब्लाक प्रमुख चुनाव में अपना परचम लहरा दिया। गोंडा में तो 16 में से 12 ब्लॉकों में प्रमुख पद पर महिलाएं जीतकर आई हैं। इनमें से किसी ने पहली बार सियासत में कदम रखा है तो कोई दूसरी पारी खेलेगा। सिर्फ चार विकासखंडों में पुरुष उम्मीदवार ब्लॉक प्रमुख पद पर आसीन हुए हैं।

लखनऊ, वाराणसी, गाजियाबाद, आगरा, बदायूं, शाहजहांपुर, श्रावस्ती, गौतमबुद्ध नगर, पीलीभीत, कन्नौज, बांदा, महोबा, ललितपुर, सोनभद्र जिलों की सभी क्षेत्र पंचायतों में भाजपा ने चुनाव जीता है।

भारतीय जनता पार्टी में लखनऊ की आठ ब्लाक प्रमुख सीट पर आज हुए मतदान में सात पर जीत दर्ज की है। लखनऊ में भाजपा ने चिनहट को छोड़कर अन्य सात ब्लाक प्रमुख सीट पर जीत दर्ज की है।

चिनहट में निर्दलीय उम्मीदवार ऊषा यादव ने बाजी मारी। बाकी सात सीट पर भाजपा का परचम लहराया है। लखनऊ मे पहली बार समाजवादी पार्टी का खाता नहीं खुला है। समाजवादी पार्टी के पास आठ में से छह सीट थीं। समाजवादी पार्टी पहली बार आठ में से एक भी सीट नहीं जीत सकी।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news