अखिलेश यादव की यूपी के वृक्षारोपण पर श्वेत पत्र लाने की मांग

समाजवादी पार्टी ने मांग की है कि भाजपा की प्रदेश सरकार पिछले साढ़े चार साल में उनके द्वारा किए गए वृक्षारोपण पर एक श्वेत पत्र जारी करे।
अखिलेश यादव की यूपी के वृक्षारोपण पर श्वेत पत्र लाने की मांग

समाजवादी पार्टी ने मांग की है कि भाजपा की प्रदेश सरकार पिछले साढ़े चार साल में उनके द्वारा किए गए वृक्षारोपण पर एक श्वेत पत्र जारी करे। पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मंगलवार को कहा कि उनकी सरकार ने ईमानदारी से और व्यापक वृक्षारोपण अभियान चलाया और गिनीज रिकॉर्ड बनाया है।

उन्होंने आगे कहा, "वे पेड़ बच गए, जिससे बुंदेलखंड में तालाबों का पुनरुद्धार हुआ और हरे भरे पार्क विकसित किए गए।"

उन्होंने वनीकरण अभियान पर भाजपा सरकार के दावों को 'खोखला' करार दिया।

उन्होंने कहा, "भाजपा सरकार ने अपने कार्यकाल के दौरान 100 करोड़ पौधे लगाने की बात कहकर अपने सौ झूठों में एक और झूठ जोड़ दिया है। भाजपा पेड़ लगाने के बजाय नफरत के बीज बो रही है।"

अखिलेश ने आगे कहा, "मुख्यमंत्री ने दावा किया कि उनके कार्यकाल में यूपी ने 100 करोड़ पेड़ लगाए और एक ही दिन में (रविवार को) 25.51 करोड़ पौधे लगाए। अब इन सबके बावजूद यूपी हर जगह हरा-भरा क्यों नहीं दिख रहा है और जंगल क्यों कवर दोगुना या चौगुना नहीं हुआ है?"

सपा अध्यक्ष ने कहा कि वृक्षारोपण के बारे में बड़े-बड़े दावों के बड़े विज्ञापन देने के अलावा, सरकार वृक्षारोपण का कोई विवरण प्रस्तुत नहीं कर सकती है कि ये कहां लगाए गए थे और कितने पेड़ अंतत: बच गए?

उन्होंने वृक्षारोपण में भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए कहा कि योगी आदित्यनाथ सरकार की मंशा और नीतियां त्रुटिपूर्ण हैं।

उन्होंने कहा कि लोहिया पार्क और जनेश्वर मिश्रा पार्क सपा शासन के दौरान लखनऊ में बने।

अखिलेश यादव ने कहा, "बीजेपी सहित कई लोग ताजी हवा में सांस लेने के लिए वहां जाते हैं। लेकिन इस सरकार ने इन हरे धब्बों की भी उपेक्षा की है।"

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news