उत्तर प्रदेश: IMEI नंबर के बगैर फोन बेचने वाले गिरोह का भंडाफोड़, बाराबंकी पुलिस ने किया गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश: IMEI नंबर के बगैर फोन बेचने वाले गिरोह का भंडाफोड़, बाराबंकी पुलिस ने किया गिरफ्तार

पुलिस को एक विशेष जानकारी मिली थी कि महाराष्ट्र का एक व्यक्ति बाराबंकी में कथित तौर पर ग्रामीणों को मोबाइल फोन बेच रहा है। पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया, जिनकी पहचान देवराज आनंद, रामेश्वर तायड़े और राधेश्याम राव के रूप में हुई।

उत्तर प्रदेश की बाराबंकी पुलिस ने नागपुर के अपराधियों के एक गिरोह का भंडाफोड़ किया है जो कथित तौर पर अंतर्राष्ट्रीय मोबाइल उपकरण पहचान (आईएमईआई) नंबर के बिना मोबाइल फोन बेचते थे।

वरिष्ठ अधिकारियों ने कहा कि बिना आईएमईआई नंबर का मोबाइल फोन किसी भी सेलुलर नेटवर्क से नहीं जुड़ सकता है। जब्त मोबाइल हैंडसेट में उचित कनेक्टिविटी पाई गई है।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, "इस तरह के फोन देश की सुरक्षा के लिए खतरा पैदा कर सकते हैं और हमने इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) और रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (रॉ) को विस्तृत जांच के लिए सूचित करने का फैसला किया है।"

पुलिस को एक विशेष जानकारी मिली थी कि महाराष्ट्र का एक व्यक्ति बाराबंकी में कथित तौर पर ग्रामीणों को मोबाइल फोन बेच रहा है। पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया, जिनकी पहचान देवराज आनंद, रामेश्वर तायड़े और राधेश्याम राव के रूप में हुई।

बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक (एसपी) अरविंद चतुर्वेदी ने कहा कि पुलिस की एक टीम ने गिरोह के सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया है, जांच के दौरान पता चला है कि मोबाइल फोन आईएमईआई नंबर के बिना उनके द्वारा बेचे जा रहे थे।

उन्होंने कहा, "तीनों अभियुक्तों के पास से आईएमईआई नंबर के बिना कम से कम 52 मोबाइल फोन, 35,000 रुपये नकद और 12 लाख रुपये की नागपुर पंजीकरण नंबर प्लेट वाली एक कार जब्त की गई है।"

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news