उत्तर प्रदेश में OBC मतदाताओं को रिझाने के लिए भाजपा ने तैयार किया मास्टरप्लान

इस दौरान पार्टी नेता अन्य पिछड़ा वर्ग की बेहतरी के लिए मोदी सरकार की ओर से किए गए बड़े निर्णयों के बारे में बताएंगे।
उत्तर प्रदेश में OBC मतदाताओं को रिझाने के लिए भाजपा ने तैयार किया मास्टरप्लान

उत्तर प्रदेश में अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) मतदाताओं को रिझाने के लिए भाजपा ने मास्टरप्लान तैयार किया है। प्रदेश भर में पिछड़ा सम्मेलन कर इस वर्ग के मतदाताओं तक भाजपा पहुंचने की कोशिश करने जा रही है।

इस दौरान पार्टी नेता अन्य पिछड़ा वर्ग की बेहतरी के लिए मोदी सरकार की ओर से किए गए बड़े निर्णयों के बारे में बताएंगे।

केंद्र सरकार ने हालिया मानसून सत्र के दौरान ओबीसी जातियों के निर्धारण का राज्यों को अधिकार देने के लिए 127 वां संविधान संशोधन विधेयक पास कराया। इसके अलावा नीट में ओबीसी वर्ग के विद्यार्थियों को 27 प्रतिशत आरक्षण भी सरकार ने दिया। पिछड़ा वर्ग आयोग को केंद्र सरकार ने संवैधानिक आयोग का भी दर्जा दिया है। इन सब कार्यों के बारे में भाजपा अब सम्मेलनों के जरिए ओबीसी वर्ग को बताने जा रही है।

पार्टी की योजना के मुताबिक, 18 सितंबर को अयोध्या में ओबीसी मोर्चा की एक बड़ी प्रदेश कार्यसमिति कराने की तैयारी है, जिसमें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव सहित कई दिग्गज नेता हिस्सा ले सकते हैं। इस प्रदेश कार्यसमिति में गृहमंत्री अमित शाह को भी बुलाने की तैयारी है।

ओबीसी बाहुल्य विधानसभा सीटों और जिलों को ध्यान में रखते हुए स्थल का चुनाव होगा, जहां पर पिछड़ा वर्ग सम्मेलन आयोजित किए जाएंगे। केंद्र सरकार और राज्य सरकार के अन्य पिछड़ा वर्ग समाज से जुड़े मंत्री इन सम्मेलनों में हिस्सा लेंगे। इस दौरान केंद्र सरकार की ओर से ओबीसी समाज की बेहतरी के लिए लिए गए फैसलों के बारे में बताया जाएगा। केंद्र के साथ उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से भी ओबीसी समुदाय के कल्याण के लिए उठाए गए कदमों की जानकारी दी जाएगी।

पार्टी नेताओं के मुताबिक, 31 अगस्त को मेरठ में पिछड़ा वर्ग की क्षेत्रीय बैठक होगी। इसके बाद दो सितंबर को अयोध्या, 3 सितंबर को कानपुर, 4 सितंबर को मथुरा और 8 सितंबर को काशी में भी इस तरह की बैठकें होंगी।

ओबीसी मोर्चा के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष नरेंद्र कुमार कश्यप ने कहा, यूपी में 350 सीटें जीतने का भाजपा ने लक्ष्य लिया है। ओबीसी मोर्चा ने प्रांतीय स्तर पर सम्मेलन करने का निर्णय लिया है। 18 सितंबर को पहली प्रदेश कार्यसमिति अयोध्या में होने वाली है, जिसमें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सहित केंद्र सरकार के कई मंत्री हिस्सा लेंगे।

ओबीसी मोर्चा ने पिछड़ों को भाजपा से जोड़कर यूपी में भाजपा को सत्ता में वापस लाने के लिए मन बना लिया है। हमारी कोशिश है कि कोई भी समाज, समूह हमसे दूर न रहे।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news