सीएम योगी ने डेंगू की जांच के लिए फिरोजाबाद दूसरी टीम भेजी

टीम स्थानीय डॉक्टरों को बीमारी के प्रसार को नियंत्रित करने और उपचार प्रोटोकॉल की योजना बनाने के बारे में भी मार्गदर्शन करेगी।
सीएम योगी ने डेंगू की जांच के लिए फिरोजाबाद दूसरी टीम भेजी

योगी आदित्यनाथ सरकार ने एक सप्ताह के भीतर स्वास्थ्य विशेषज्ञों की एक दूसरी टीम को फिरोजाबाद भेजा है, ताकि डेंगू के फैलने वाले प्रकार की पहचान की जा सके, जो बच्चों के लिए अधिक खतरनाक होता जा रहा है। लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) की तीन सदस्यीय टीम का नेतृत्व वरिष्ठ बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. एस.एन. सिंह ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

टीम स्थानीय डॉक्टरों को बीमारी के प्रसार को नियंत्रित करने और उपचार प्रोटोकॉल की योजना बनाने के बारे में भी मार्गदर्शन करेगी।

राज्य के स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त निदेशक ए.के. सिंह ने कहा, डेंगू वायरस के चार सीरोटाइप हैं, जिन्हें डीइएनवी-1, 2, 3 और 4 के रूप में नामित किया गया है। सभी एडीज मच्छरों की कुछ प्रजातियों के काटने से मानव-से-मानव में संचरित होता हैं।

डीइएनवी-3 संक्रमण डेंगू रक्तस्रावी बुखार का कारण बनता है जो बीमारी का एक गंभीर और घातक रूप है। यह प्लेटलेट की संख्या में अचानक गिरावट और मसूड़ों में रक्तस्राव का कारण बनता है। डेंगू शॉक सिंड्रोम डेंगू रक्तस्रावी बुखार का सबसे गंभीर रूप है।

डेंगू के मामलों की संख्या चिंताजनक रूप से बढ़ने के साथ फिरोजाबाद सबसे ज्यादा प्रभावित जिला रहा है।

नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल (एनसीडीसी) ने पहले पुष्टि की थी कि वायरल बीमारी के मामले मुख्य रूप से डेंगू थे, साथ ही मलेरिया, स्क्रब टाइफस और लेप्टोस्पायरोसिस के कुछ मामले भी थे।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी जिला प्रशासन को सतर्क किया था कि इसका प्रकोप डेंगू रक्तस्रावी बुखार में से एक हो सकता है।

फिरोजाबाद के सीएमओ दिनेश कुमार प्रेमी ने कहा, 'जिले में 64 कैंप हैं जहां बुखार वाले लोगों समेत 4500 लोगों का इलाज चल रहा है।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने जिले में अब तक डेंगू के 220 मामलों की पुष्टि की है।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news