पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के स्वास्थ्य का हालचाल लेने पहुंचे रक्षामंत्री राजनाथ

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह देखने के लिए रक्षामंत्री राजनाथ सिंह अस्पताल पहुंचे। उन्होंने चिकित्सकों से पूर्व मुख्यमंत्री के स्वास्थ्य की जानकारी ली। राजनाथ सिंह एक दिवसीय दौरे पर बुधवार को लखनऊ में हैं।
पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के स्वास्थ्य का हालचाल लेने पहुंचे रक्षामंत्री राजनाथ

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह देखने के लिए रक्षामंत्री राजनाथ सिंह अस्पताल पहुंचे। उन्होंने चिकित्सकों से पूर्व मुख्यमंत्री के स्वास्थ्य की जानकारी ली। राजनाथ सिंह एक दिवसीय दौरे पर बुधवार को लखनऊ में हैं। लखनऊ के संजय गांधी परास्नातक आयुर्विज्ञान संस्थान (एसजीपीजीआई) में भर्ती उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह (89) की हालत नाजुक बनी हुई है और उन्हें जीवन रक्षक प्रणाली पर रखा गया है।

कल्याण सिंह बुधवार को सांस लेने में परेशानी होने के कारण उनको मैकेनिकल वेंटिलेटर पर शिफ्ट किया गया है। लखनऊ के संजय गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (एसजीपीजीआइ) से मिली जानकारी के अनुसार क्रिटिकल केयर मेडिसिन के गहन चिकित्सा कक्ष (आइसीयू) में विशेषज्ञ चिकित्सकों की देखरेख में उनका उपचार चल रहा है।

कल्याण सिंह अब खुद से ऑक्सीजन नहीं ले पा रहे हैं। उन्हें एनआईवी के जरिए ऑक्सीजन दी जा रही है। उनके फेफड़े, दिल, गुर्दा और लिवर पर दबाव बढ़ गया है। इसका असर दिमाग पर भी पड़ रहा है। मंगलवार रात डॉक्टरों ने गले में ट्यूब डालकर उन्हें ऑक्सीजन देनी शुरू की। इसे इंट्यूबेट (मैकेनिकल वेंटिलेशन) कहते हैं।

एसजीपीजीआइ के डॉक्टरों के अनुसार शनिवार से पूर्व मुख्यमंत्री व वरिष्ठ भाजपा नेता कल्याण सिंह की तबीयत चिंताजनक बनी हुई है। सोमवार की रात उनकी तबीयत अधिक बिगड़ने के बाद से परिवार के लोगों को भी अस्पताल बुला लिया गया है। हालांकि मंगलवार को कई जांचों के बाद डाक्टरों ने उनके शरीर के सभी रासायनिक पैरामीटर आंशिक नियंत्रित होने की बात कही है। इसके बावजूद उनकी स्थिति गंभीर बताई जा रही है।

एसजीपीजीआई के निदेशक प्रो. डॉ. आरके धीमन ने बताया कि दो-तीन दिनों से पूर्व सीएम कल्याण सिंह का बीपी अनियंत्रित हो रहा था। सांस में तकलीफ के साथ यूरिन संक्रमण व अन्य इन्फेक्शन भी थे, जिसकी दवाएं चलाई जा रही हैं। सोमवार की अपेक्षा मंगलवार को पैरामीटर आंशिक रूप से बेहतर हुए, लेकिन जिस तेजी से सुधार होना चाहिए, वह नहीं हो पा रहा है। अब भी उन्हें नॉन इनवेसिव वेंटिलेटर पर रखा गया है। सीसीएम कार्डियोलाजी, नेफ्रोलाजी, न्यूरोलाजी व एंडोक्रिनोलाजी के विशेषज्ञ उनके स्वास्थ्य की निगरानी रख रहे हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह को तीन जुलाई के देर रात लखनऊ के डॉ. राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान में भर्ती कराया गया था, जहां से हालत गंभीर होने के बाद चार जुलाई की शाम संजय गांधी पीजीआइ में शिफ्ट किया गया।

उनको पीजीआई के सीसीएम (क्रिटिकल केयर मेडिसिन) डिपार्टमेंट के आइसीयू (इंटेंसिव केयर यूनिट) में भर्ती किया गया है। कल्याण सिंह का हालचाल लेने के लिए लगातार पार्टी के वरिष्ठ नेता पहुंच रहे हैं। तीन बार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी जा चुके हैं और उनके इलाज की लगातार निगरानी कर रहे हैं।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news