वाराणसी में कोविड सुरक्षा पर जल्द ही 'आकाशवाणी'

जल्द ही पवित्र शहर वाराणसी के नागरिकों को कोविड सुरक्षा प्रोटोकॉल का पालन करने के लिए अब आसमान से एक आवाज सुनाई देगी।
वाराणसी में कोविड सुरक्षा पर जल्द ही 'आकाशवाणी'

जल्द ही पवित्र शहर वाराणसी के नागरिकों को कोविड सुरक्षा प्रोटोकॉल का पालन करने के लिए अब आसमान से एक आवाज सुनाई देगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का लोकसभा क्षेत्र, वाराणसी शहर चेन्नई स्थित स्टार्ट-अप गरुड़ एयरोस्पेस के ड्रोन द्वारा कोविड की दवाओं को मुहैया कराएगा और ड्रोन के जरिये कोविड सुरक्षा घोषणाएं की जाएंगी।

वाराणसी स्मार्ट सिटी लिमिटेड ने ड्रोन का उपयोग करके दवाओं के टेस्ट के आधार पर वितरण करने के लिए एक कार्य आदेश जारी किया है क्योंकि देश भर में कोविड की दूसरी लहर फैल रही है।

शहर स्थित गरुड़ एयरोस्पेस के प्रबंध निदेशक अग्निश्वर जयप्रकाश ने आईएएनएस को बताया, "कोविड-19 सुरक्षा सावधानियों से संबंधित घोषणाएं करने के लिए ड्रोन का भी इस्तेमाल किया जाएगा।"

वाराणसी स्मार्ट सिटी द्वारा जारी कार्य आदेश के अनुसार, टेस्ट पांच दिनों के लिए होगा और यह गरुड़ एयरोस्पेस को ड्रोन का उपयोग करके स्वच्छ अभियान चलाने के लिए भी कह सकता है।

जयप्रकाश के अनुसार, कुछ साल पहले तमिलनाडु वन विभाग को कुछ ड्रोन की आपूर्ति की गई थी जो हाथियों को गांवों में प्रवेश करने से रोकने के लिए बाघ/शेर की दहाड़ती आवाजें निकालेंगे।

उन्होंने कहा कि घोषणा को लोग सुन सकते हैं और ड्रोन के शोर से परेशन नहीं होंगे।

हाल ही में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने रॉकेट लॉन्च टाउन श्रीहरिकोटा में स्थित अपने स्टाफ क्वार्टर में ड्रोन आधारित दवाओं, सब्जियों और कीटाणुनाशकों के छिड़काव का टेस्ट किया है।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news