'New Urban India Expo' में दिखी भविष्य के स्मार्ट शहरों की झलक

यूपी में तीन दिनों तक चले 'न्यु इण्डिया एक्स्पोें" ने देशवासियों को भविष्य के स्मार्ट शहरों की एक झलक धिक्ला दी है। साथ ही सरकार और निजी कंपनियों द्वारा किया जा रहे स्मार्ट तकनीकों के इस्तेमाल से जीवन को और बेहतर बनाया जा सकेगा।
'New Urban India Expo' में दिखी भविष्य के स्मार्ट शहरों की झलक

यूपी में तीन दिनों तक चले 'न्यु इण्डिया एक्स्पोें" ने देशवासियों को भविष्य के स्मार्ट शहरों की एक झलक धिक्ला दी है। साथ ही सरकार और निजी कंपनियों द्वारा किया जा रहे स्मार्ट तकनीकों के इस्तेमाल से जीवन को और बेहतर बनाया जा सकेगा। शहरों की बढ़ती आबादी को वैज्ञानिक ढ़ग से सस्टेनेबल रूप से कैसे विकसित किया जा सकता है इसके ऊपर भी विचार विमर्श हुआ।

इस अवसर पर प्रदेश के नगर विकास, नगरीय रोजगार एवं गरीबी उन्मूलन मंत्री आशुतोष टण्डन ने कहा कि अमृत महोत्सव पर आयोजित न्यू अर्बन इण्डिया एक्सपो एवं कॉन्क्लेव में नगरीय विकास में नवीन तकनीकों तथा प्रदेश में नगरीय विकास के किए गये कार्यो की देश के समस्त राज्यों से आये हुए डेलीगेट्स एवं आम नागरिकों को जानकारी मिली।

शहरी भारत का नवनिर्माण करने के लिए कॉन्फ्रेस के दौरान कुल 17 सत्रों में मेट्रो, स्मार्ट सिटीज, अर्बन प्लानिंग, न्यु हाउसिंग तकनीकों, वाटर सिक्योर सिटीज, डिजिटल अर्बन इॅकोनामी आदि विषयों पर जो विमर्श हुआ, उससे नगरीय विकास में नये मानक बनाये जायंगें, जो भविष्य के लिए सुखद परिणाम देगें।

आशुतोष टण्डन ने कहा की उत्तर प्रदेश ने प्रधानमंत्री द्वारा संकल्पित नगर विकास की योजनाओं एवं मिशनों में विगत साढ़े चार वर्षो में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में अभूतपूर्व विकास किया तथा प्रधानमंत्री आवास योजना, स्मार्ट सिटी मिशन, अमृत मिशन, पीएम स्वनिधि योजनाओं में सर्वाधिक उपलब्धि हासिल करते हुए प्रथम स्थान पर है।

उन्होने कहा कि शहरीकरण प्रदेश की आर्थिक उन्नति के लिए आवश्यक है। प्रदेश सरकार तेजी से विकास करते हुए शहरीकरण को बढावा दे रही है।

नगर विकास मंत्री ने कहा कि किसी भी योजना की सफलता में देश व प्रदेश की आबादी का भी महत्वपूर्ण योगदान होता है। हमारे प्रदेश की आबादी विश्व के 195 देशो में से 190 देशो की आबादी से अधिक है। प्रदेश में 17 नगर निगम, 200 नगर पालिकाए, 517 नगर पंचायते है। यहां कूड़ा निस्तारण एक बडी समस्या है, लेकिन सॉलिड वेस्ट मैनेजमेन्ट के क्षेत्र में उतर प्रदेश तेजी से आगे बढ़ रहा है।

16 प्रोसेसिंग प्लान्ट स्थापित कर दिये गये हैं, 33 का कार्य प्रगतिधीन है। भविष्य में शत-प्रतिशत कूड़े का निस्तारण करना हमारा लक्ष्य है।

इसी प्रकार एस.टी.पी. एवं सीवर सफाई के लिए ‘वन सिटी-वन आपरेटर’ देश में पहला सफल प्रयोग है। जिसमें मैनुवल सफाई के स्थान पर रोबोट व अन्य तकनीकी के माध्यम से सफाई की जा रही है। उन्होने कहा कि भारत सरकार के सहयोग से 10 स्मार्ट सिटी बनाई जा रही है इसके साथ 7 स्टेट स्मार्ट सिटी विकसित की जा रही है।

उन्होने कहा कि मुख्यमत्रीं के कुशल निर्देशन में आने वाले समय में यह कान्क्लेव प्रदेश की सभी नगरीय समस्याओ को दूर करने में सफल होगा। उन्होने एक्सपो के सफल आयोजन के लिए भारत सरकार एवं नगर विकास की टीम को बधाई एवं शुभकामनाएं दी।

मुख्य सचिव श्री राजेन्द्र कुमार तिवारी ने कान्क्लेव के समापन अवसर पर कहा कि प्रदेश के लिए यह सौभाग्य की बात है कि नगरीय क्षेत्रो के लिए पुनर्निर्माण एवं विकास के संबंध में एक्सपो आयोजित करने का मौका मिला।

प्रदेश में कोविड-19 कम होने के बाद पूरे देश का यह एक विशालतम कार्यक्रम है, जिसमें भारत सरकार एवं देशभर के सभी राज्यो से नगर विकास के अधिकारी, तकनिकी विशेषज्ञ, मिशन डायरेक्टर व जन प्रतिनिधियों ने प्रतिभाग किया।

उन्होने कहा कि नगरीय आबादी को सुविधायें मिले यह महत्वपूर्ण है। आबादी का अनुपात गॉव से नगरो की ओर बढ रहा है और इसको पलटना ही हमारा लक्ष्य होना चाहिए।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.