Lakhimpur Violence: सीएम योगी बोले, 'सिर्फ आरोप पर किसी की गिरफ्तारी संभव नहीं, पर जो दोषी होगा उसे छोड़ेंगे भी नहीं'

लखीमपुर खीरी मामले में हो रही राजनीति को लेकर योगी ने विपक्ष पर निशाना साधा। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राहुल गांधी और प्रियंका से मैं पूछना चाहता हूं कि मार्च 2020 से देश कोरोना से त्रस्त है। 24 से 25 करोड़ की आबादी उत्तर प्रदेश में रहती है।
Lakhimpur Violence: सीएम योगी बोले, 'सिर्फ आरोप पर किसी की गिरफ्तारी संभव नहीं, पर जो दोषी होगा उसे छोड़ेंगे भी नहीं'

लखीमपुर हिंसा के आरोपी और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के बेटे की गिरफ्तारी की विपक्ष की मांग पर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को कहा कि कानून हाथ में लेने की छूट किसी को नहीं होगी लेकिन किसी के दबाव में कोई कार्रवाई नहीं होगी।

शुक्रवार को एक टीवी चैनल के कार्यक्रम में योगी ने कहा, लखीमपुर खीरी की घटना दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण हैं, सरकार उसकी तह तक जा रही है । लोकतंत्र में हिंसा के लिये कोई स्थान नहीं है जब कानून सबको सुरक्षा प्रदान करने की गारंटी दे रहा है तो किसी को भी अपने हाथ में कानून लेने का अधिकार नहीं है, चाहे वह कोई भी हो। गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र के पुत्र को बचाने की कोशिश के सवाल पर उन्होंने कहा, कोई वीडियो इस प्रकार का नही है, हमने नंबर भी जारी किया है कि अगर किसी के पास कोई साक्ष्य है तो इस पर अपलोड करें । दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा । अन्याय किसी के साथ नहीं होगा । कानून हाथ में लेने की छूट किसी को नही होगी लेकिन किसी के दबाव में कोई कार्रवाई नहीं होगी।

लखीमपुर खीरी मामले में हो रही राजनीति को लेकर योगी ने विपक्ष पर निशाना साधा। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राहुल गांधी और प्रियंका से मैं पूछना चाहता हूं कि मार्च 2020 से देश कोरोना से त्रस्त है। 24 से 25 करोड़ की आबादी उत्तर प्रदेश में रहती है। मैं पूछना चाहता हूं कांग्रेस, सपा, बसपा के नेता जो आज पॉलिटिकल टूर कर रहे हैं, इनमें से कितने नेता उस समय बाहर निकले थे। कोरोना कालखंड में इनमें से किसी के दर्शन नहीं हुए। उत्तर प्रदेश में जब हर व्यक्ति जूझ रहा था तब केन्द्र और प्रदेश की सरकार उनके साथ थी। मार्च 2020 से अक्टूबर 2021 तक यही स्थिति थी।

सीएम योगी ने आगे कहा, 'उन्हें लगा कि लखीमपुर खीरी एक बहाना है लेकिन शांति और सौहार्द बनाना सरकार की प्राथमिकता होती है, हमने वही किया। वे कोई सद्भावना के दूत नहीं थे, ये वहां दुर्भावनापूर्ण आपसी द्वेष और संघर्षपूर्ण माहौल पैदा करने चाहते थे जो हम कतई नहीं होने देंगे।' प्रियंका के गेस्ट हाउस में झाड़ू लगाने के वायरल वीडियो पर योगी ने कहा, 'जनता उनको उसी लायक बनाना चाहती है और जनता ने उन्हे उसी लायक बना दिया है। इनके पास उपद्रव करने और नकारात्मकता फैलाने के अलावा कोई काम नहीं है।'

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.