लखनऊ: पहचान बनाने में लगे 8 साल, इंडियन प्रो-रेस्लिंग में जाना पहचाना नाम 'टाइगर खान'
Photos by Dheeraj Dhawan

लखनऊ: पहचान बनाने में लगे 8 साल, इंडियन प्रो-रेस्लिंग में जाना पहचाना नाम 'टाइगर खान'

इनके फिगर और काम को दखते हुए इन्हें बॉलीवुड फिल्मों में रोल का भी ऑफर हुआ तथा कई सेलेब्रिटी ने अपना निजी बॉडीगार्ड के लिए ऑफर किये पर इन्होंने साफ तौर से मना कर दिया ।

टाइगर खान इंडियन प्रो-रेस्लिंग में जाना पहचाना नाम है, जिनका सपना था कि WWE जैसा इवेंट अपने सरजमीं पर हो। उन्हें ये सपना पूरा करने में पूरे 8 साल लगे ।

वो दिन भी आया 10 जून 2015 को शाम के समय लखनऊ के गोमतीनगर क्षेत्र के 1090 पर नजारा बिल्कुल WWE जैसा ही था हजारों पब्लिक से घिरा रिंग और अंदर घमासान फाइट चल रही थी , लोगों की सांसें अटकी थी ।

लोग चकित थे क्योंकि वो लोग पहली बार लाइव फाइट देख रहें थे । टाइगर खान के जीत के संग फाइट खत्म हुई। चारों तरफ टाइगर खान का ही नाम गूँज रहा था ।

लोग सुरक्षा चक्र तोड़ के हाथ मिलाने एवं सेल्फ़ी को बेताब थे , पर कोई नही जानता कि यहाँ तक पहुचने के लिए टाइगर खान ने काफी मेहनत की ।

WWE जैसा इवेंट कराने के लिए काफी पैसे की जरूरत थी तब इन्होंने एक सेक्युरिटी गार्ड कंपनी में बतौर बाउंसर नौकरी की और लखनऊ में शूट होने वाली बॉलीवुड मूवी जैसे कि दबंग-2, बुलेट राजा, दावते इश्क़, जैसी अनेकों फिल्मों की सेक्युरिटी की जिम्मेदारी इन्होंने बखूबी निभाया ।

इनके फिगर और काम को दखते हुए इन्हें बॉलीवुड फिल्मों में रोल का भी ऑफर हुआ तथा कई सेलेब्रिटी ने अपना निजी बॉडीगार्ड के लिए ऑफर किये पर इन्होंने साफ तौर से मना कर दिया ।

क्योंकि इन्हें एक रेसलर बनाना था । इनके पास काफी पैसे इक्कठे हो चुके थे, और सेक्युरिटी की नौकरी छोड़ इवेंट के तैयारियों में लग चुके थे । जिसमें इनके पिता जी काफी मदद की । 3 माह में WWE जैसा फाइट रिंग बन कर तैयार हुआ पर सिर्फ रिंग बना लेना ही काफी नहीं था। इन्ही दिनों इनकी मुलाक़ात अविनाश अग्रवाल से हुई जो खुद टाइगर जैसा रेसलर बनने की चाहत थी।

मुलाकात दोस्ती में बदल गई । और कारवां बढ़ता गया । अब तक टाइगर खान रेसलिंग का पचासों शो कर चुके है । अब इनका WWE जाने का कोई इरादा नहीं है । अपने देश में रह कर इस तरह का इवेंट का आयोजन करना है ।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news