स्वच्छता के लिए बलिदान नहीं, योगदान की जरूरत : अनुराग ठाकुर

अनुराग बोले कि स्वच्छता के लिए बलिदान नहीं, योगदान मांग रहे हैं। जैसे बंदिशों से देश को स्वतंत्र कराया गया था, उसी तरह गंदगी से देश को मुक्त कराने के लिए यह कार्यक्रम शुरू किया गया है।
स्वच्छता के लिए बलिदान नहीं, योगदान की जरूरत : अनुराग ठाकुर

केंद्रीय युवा एवं खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि देश का सबसे बड़ा स्वच्छता अभियान और संस्कृति, संस्कारों की धरती से शुरू हो रहा है। इसकी सफलता के लिए लिए आपको बलिदान नहीं देना है, बल्कि सिर्फ आपके योगदान की जरूरत है। अनुराग ठाकुर शुक्रवार को प्रयागराज के मोतीलाल नेहरू राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एमएनआईटी) के आडीटोरियम हाल में स्वच्छ भारत कार्यक्रम में शामिल हुए। उन्होंने कहा कि जिस तरह स्वतंत्रता के आंदोलन में प्रयागराज के लोगों ने अग्रणी भूमिका निभाई थी, उसी तरह यहां के लोग स्वच्छता में भी इतिहास रचेंगे। उन्होंने कहा कि स्वच्छता के लिए लोगों में सोच विकसित करनी होगी।

अनुराग बोले कि स्वच्छता के लिए बलिदान नहीं, योगदान मांग रहे हैं। जैसे बंदिशों से देश को स्वतंत्र कराया गया था, उसी तरह गंदगी से देश को मुक्त कराने के लिए यह कार्यक्रम शुरू किया गया है। इस दौरान स्वच्छता से करें मित्रता, छोटी सोच से बड़ी उपलब्धि प्राप्त होती है.. का स्लोगन भी दिया। कहा कि स्वच्छता से शहीदों को सच्ची श्रद्धांजलि भी मिलेगी।

अभियान की औपचारिक शुरूआत करने के बाद मंत्री ने कहा कि वह अब हर दिन किसी न किसी जिले में इस अभियान में शिरकत करेंगे।

उन्होंने जापान का उदाहरण दिया और कहा कि खेल के दौरान जब वहां के खिलाड़ी हार गए, इसके बाद भी ड्रेसिंग रूम चमका कर निकले, जब वो संदेश दे सकते हैं, तो भारत के लोग क्यों नहीं।

अनुराग बोले कि कुंभ में यहां दुनिया से 24 करोड़ लोग आए। यहां से यह अभियान शुरू होगा तो दुनिया में इसका संदेश जाएगा। उन्होंने युवाओं से आह्वान किया कि वो स्वच्छता अभियान में जुड़ें और सोशल मीडिया पर इस संदेश को प्रचारित करें। बताया कि अभियान के दौरान देशभर से 75 लाख किलो सिंगल यूज प्लास्टिक एकत्र करने का संकल्प है।

अनुराग ठाकुर ने कहा कि वह अपना रिपोर्ट कार्ड फेसबुक, इंस्टाग्राम और ट्विटर पर अपडेट करेंगे। युवा उन्हें फॉलो करें और अपना रिपोर्ट कार्ड पेश करें। उन्होंने युवाओं को स्वच्छता के मामले में प्रयागराज को नंबर वन बनाने की शपथ भी दिलाई।

समारोह में उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि दो अक्टूबर 2014 को जब लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाथ में झाड़ू लेकर 'स्वच्छ भारत-स्वस्थ भारत' का नारा दिया तो बच्चा-बच्चा इस अभियान से जुड़ गया। इस अभियान को जन सहभागिता से जनांदोलन बनाया जाएगा और हर गांव और हर मोहल्ले को स्वच्छ बनाया जाएगा।

प्रदेश के खेल मंत्री उपेंद्र तिवारी ने कहा कि त्रिवेणी से अभियान की शुरूआत हो रही है। यह प्रयागराज के लिए गौरव की बात है।

Note: Yoyocial.News लेकर आया है एक खास ऑफर जिसमें आप अपने किसी भी Product का कवरेज करा सकते हैं।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.