VIDEO: गुडंबा के पहाड़पुर की गलियों में बेफिक्र घूमता दिखा तेंदुआ, नज़र में है लेकिन पहुँच से अभी भी दूर

वन विभाग के कुकरैल प्रभाग के अधिकारी इलाके में कैंप कर तलाश कर रहे हैं। वहीं पुलिस टीम लोगों को घरों में रहने की लगातार अपील कर रही है। एडीसीपी उत्तरी प्राची सिंह के मुताबिक पुलिस टीम मुस्तैद है।
VIDEO: गुडंबा के पहाड़पुर की गलियों में बेफिक्र घूमता दिखा तेंदुआ, नज़र में है लेकिन पहुँच से अभी भी दूर

राजधानी में गुडंबा के पहाड़पुर व कल्याणपुर मोहल्ले में शनिवार तड़के तेंदुआ घुस आया है। तेंदुए की तस्वीर सीसीटीवी में पहाड़पुर क्षेत्र में कैद हो गई। देर शाम को फिर तेंदुआ पास में ही कल्याणपुर इलाके में दिखा। इस दौरान भीड़ देखकर भड़क गया और लोगों पर हमला कर दिया।

तेंदुए हमले में गुडंबा में तैनात सिपाही सहित तीन घायल हो गये। साथ ही तेंदुआ एक खाली प्लाट में घुस गया है। इलाके में पुलिस व वन विभाग की टीम रेस्क्यू में जुटी है। वन विभाग के कुकरैल प्रभाग के अधिकारी इलाके में कैंप कर तलाश कर रहे हैं।

वहीं पुलिस टीम लोगों को घरों में रहने की लगातार अपील कर रही है। एडीसीपी उत्तरी प्राची सिंह के मुताबिक पुलिस टीम मुस्तैद है।

स्थानीय लोगों के मुताबिक तेंदुए ने एक महिला विनीता रावत को सुबह ही हमला करके घायल कर दिया था। वहीं शाम को कल्याणपुर के कन्हैयानगर कालोनी में घुसा तेंदुआ अचानक लोगों को देख भड़क गया। उसने हमला बोल दिया। इस हमले में सिपाही ज्ञानेंद्र घायल हुए।

उन पर हमले के दौरान सुबह घायल विनीता के बेटे वीरू ने तेंदुए पर ईंट फेंककर हमला किया तो तेंदुए ने उस पर भी हमला कर उसे घायल कर दिया। सबको उपचार के लिए अस्पताल भेजा गया। एडीसीपी उत्तरी प्राची सिंह के मुताबिक पुलिस मुस्तैद है। लोगों को सतर्क कर रही है।

गुडंबा के कुर्सी रोड पर स्थित घनी आबाद वाले इलाके पहाड़पुर में तेंदुआ घुस आने की जानकारी शुक्रवार को ही वन विभाग के अधिकारियों को लगी थी। देर शाम तक वन विभाग के अधिकारी निरीक्षण करते रहे, लेकिन इसकी पुष्टि नहीं हो सकी थी।

शनिवार तड़के करीब 4 बजे तेंदुआ पहाड़पुर इलाके के घरों में लगे कई सीसीटीवी कैमरों में दिखा। इस दौरान वह कभी गलियों में टहलता हुआ तो छज्जे पर चढ़कर बैठता दिखा। कभी गलियों में खड़ीं कई गाड़ियों के बीच से निकलता दिखा। एक स्थान पर बाहर बने केबिन के पास वह कुछ देर तक टहलता रहा। फिर केबिन के पास बैठ गया।

तेंदुआ दिखते ही इलाके में दहशत

घनी आबादी में तेंदुआ घुसने की पुष्टि तब हुई जब मोहल्ले के एक व्यक्ति ने अपने घर के सीसीटीवी कैमरे में उसकी वीडियो देखी। तत्काल पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना दी। इसके बाद मौके पर प्रभारी निरीक्षक गुडंबा सतीश चंद्र साहू अपनी टीम के साथ पहुंचे। सीसीटीवी कैमरे की फुटेज देखने के बाद उन्होंने तत्काल वन विभाग को सूचित कर दिया। वहीं पुलिस ने लोगों को घरों के अंदर रहने की अपील की। वहीं बच्चों को सुरक्षित रखने व कमरे से बाहर न निकलने की चेतावनी भी दी।

वन विभाग की टीम तलाश में जुटी

गुडंबा इलाके में तेंदुआ घुसने की सूचना पर डीएफओ रवि कुमार सिंह ने कुकरैल वन प्रभाग के अधिकारी केपी सिंह के नेतृत्व में एक टीम तत्काल रेस्क्यू के लिए भेज दी है। यह टीम पूरे इलाके में सर्च ऑपरेशन चला रही है। इलाके के लोगों को लगातार अलर्ट भी कर रही है। अधिकारियों के मुताबिक आशंका है कि तेंदुआ इलाके से देर रात तक निकलकर बाराबंकी की तरफ जा सकता है। हालांकि टीम लगातार कुकरैल जंगलों के आसपास के इलाके में लगातार निगरानी कर रही है। टीम इस बात की कोशिश कर रही है कि किसी तरह की जनहानि न हो।

संयुक्त टीम ने शुरू किया अभियान

एडीसीपी उत्तरी प्राची सिंह के मुताबिक देर शाम को पुलिस व वन विभाग की संयुक्त टीम ने तेंदुए को पकड़ने के लिए विशेष अभियान शुरू कर दिया है। तेंदुआ हमला करने के बाद एक खाली प्लाट में छिप गया है। वहां वन विभाग व पुलिस की संयुक्त टीम ने जाल से खाली प्लाट पर घेराबंदी शुरू कर दी है। आसपास के मकानों को खाली कराया जा रहा है, ताकि किसी को नुकसान न हो। हालांकि देर शाम तक सर्च अभियान जारी रहा।

ठंड के मौसम में ही ठाकुरगंज में घुसा था तेंदुआ

करीब तीन साल पहले 13 जनवरी 2018 को ठाकुरगंज इलाके में तेंदुआ घुसा था। घनी आबादी में घुसने के कारण काफी दहशत फैल गई थी। इसी बीच अचानक तेंदुआ सेंट फ्रांसिस मूक बधिर स्कूल में घुस गया था, जहां बच्चे छात्रावास में रह रहे थे। बच्चों ने खुद को छात्रावास में कैद कर लिया था। छात्रावास में 60 बच्चे थे। तत्काल पुलिस को सूचना दी। वन विभाग के साथ प्राणि उद्यान की टीम ने करीब 6 घंटे की मशक्कत के बाद भी तेंदुआ नहीं मिला था।

तीन दिन की दहशत के बाद मार गिराया गया था तेंदुआ

आशियाना इलाके में भी 14 फरवरी 2018 को तेंदुआ घुसा था, जिसके कारण पूरा इलाका दहशत में था। पुलिस व वन विभाग की टीम लगी हुई थी। तीसरे दिन तेंदुआ एक घर में घुस गया। वन विभाग की टीम उसकी तलाश कर रही थी, लेकिन उसे सफलता नहीं मिली थी। घर में घुसने की जानकारी होते ही आशियाना के तत्कालीन प्रभारी निरीक्षक त्रिलोकी सिंह अपनी टीम के साथ पहुंचे। वह घर के अंदर से लोगों को बाहर निकाल रहे थे। इसी बीच किचन में घुसे तेंदुए ने हमला कर दिया। इंस्पेक्टर ने सर्विस पिस्तौल से फायर कर दिया, जिससे तेंदुआ घायल हो गया। घायल तेंदुए को वन विभाग की टीम ने किचन से बाहर निकाला, लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। तेंदुए की तलाश के लिए ड्रोन कैमरे की भी मदद ली गई थी।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news