आंशिक रूप से यूपी में दिखा भारत बंद का असर, प्रशासन सख्त

आंशिक रूप से यूपी में दिखा भारत बंद का असर, प्रशासन सख्त

तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में किसान संगठनों के बुलाए गये भारत बंद का कुछ असर यूपी में देखने को मिल रहा है। किसानों के भारत बंद को समाजवादी पार्टी, कांग्रेस, बसपा और आरएलडी का समर्थन मिला है।

तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में किसान संगठनों के बुलाए गये भारत बंद का कुछ असर यूपी में देखने को मिल रहा है। किसानों के भारत बंद को समाजवादी पार्टी, कांग्रेस, बसपा और आरएलडी का समर्थन मिला है। प्रयागराज में बंद के समर्थन में सपा कार्यकर्ताओं ने ट्रेन रोक दी है।

भारत बंद को लेकर यूपी पुलिस प्रशासन सतर्क है। जगह-जगह पुलिस फोर्स तैनात की गई है। उधर मुख्यमंत्री ने दुकान को जबरिया बंद कराने पर कार्यवाही के आदेश दिए हैं। गोरखपुर में पुलिस ने विपक्षी पार्टियों के कई नेताओं को हिरासत में लिया है। विपक्षी दलों के नेता गोलघर में खुली दुकानें बंद करा रहे थे।

मैनपुरी में सपा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया। यहां बैल और हल लेकर भारत बंद के समर्थन में सैकड़ो कार्यकर्ता सड़क पर उतरे थे। सभी को किशनी थाना कोतवाली भेजा गया है।

वाराणसी में भारत बंद का हल्का फुल्का असर दिखा। ड्रोन कैमरे से पुलिस प्रदर्शनकारियों पर निगरानी रखी जा रही है। जबरन दुकान बंद कराने वालों से पुलिस सख्ती से पेश आ रही है।

हरदोई में किसान संगठनों ने हाइवे जाम किया। दूसरी ओर विरोध प्रदर्शन करने निकले कांग्रेसियों को पुलिस ने कार्यालय के बाहर से हिरासत में ले लिया।

प्रयागराज में भारत बंद के समर्थन में सपा कार्यकर्ताओं ने नवीन मंडी के गेट पर विरोध प्रदर्शन किया। सपा कार्यकर्ताओं ने भैंस पर सरकार लिखकर और हाथों में किसान सुधार कानून के विरोध में पोस्टर लेकर नारेबाजी की। पुलिस ने सपा नेता ऋचा सिंह समेत करीब दर्जन भर कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया।

गोंडा में भारत बंद का मिला-जुला असर। व्यापार मंडल का मौन समर्थन लेकिन दुकानें खुली रहीं। बाजारों में रौनक दिखी। मॉल, पेट्रोल पंप और मंडी भी सुबह से खुले रहे।

एडीजी (लॉ ऐंड अर्डर) प्रशांत कुमार ने कहा, "प्रशासन मुस्तैद है और हर स्थिति की निगरानी की जा रही है।"

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news