प्रियंका गांधी ने पीएम मोदी को लिखी चिट्ठी, लखीमपुर खीरी मामले में पीड़ितों को न्याय दिलाने की मांग की

प्रियंका गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज लखनऊ में हैं और मैंने उन्हें पत्र लिखकर लखीमपुर खीरी मामले में पीड़ितों को न्याय दिलाने की मांग की है। प्रियंका ने पीएम मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर भी निशाना साधा है।
प्रियंका गांधी ने पीएम मोदी को लिखी चिट्ठी, लखीमपुर खीरी मामले में पीड़ितों को न्याय दिलाने की मांग की

कृषि कानूनों की वापसी पर सियासत जारी है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने एक तरफ केंद्र सरकार के फैसले का स्वागत किया है, वहीं दूसरी ओर पीएम मोदी को चिट्ठी लिखकर लखीमपुर खीरी कांड में पीड़ितों को न्याय दिलाने की मांग की है। प्रियंका गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज लखनऊ में हैं और मैंने उन्हें पत्र लिखकर लखीमपुर खीरी मामले में पीड़ितों को न्याय दिलाने की मांग की है। प्रियंका ने पीएम मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर भी निशाना साधा है। 

प्रियंका गांधी का मोदी सरकार पर तंज

प्रियंका गांधी ने कहा कि लखीमपुर खीरी कांड के आरोपी के पिता के साथ पीएम और योगी मंच साझा कर रहे हैं। लखीमपुर खीरी कांड के पीड़ितों को न्याय कब मिलेगा। इससे पहले शुक्रवार को पीएम द्वारा कृषि कानून वापस करने की घोषणा के बाद प्रियंका गांधी ने मोदी सरकार पर तंज कसा था। प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा था कि चुनाव में हार दिखने लगी तो इस देश की सच्चाई समझ में आ गई। प्रियंका गांधी ने ट्वीट के जरिए केंद्र सरकार पर आरोपों की झड़ी लगा दीं। प्रियंका ने कहा था कि चुनाव में हार दिखने लगी तो आपको अचानक इस देश की सच्चाई समझ में आने लगी - कि यह देश किसानों ने बनाया है, यह देश किसानों का है, किसान ही इस देश का सच्चा रखवाला है।

प्रियंका गांधी वाड्रा ने लिखा 600 से अधिक किसानों की शहादत, 350 से अधिक दिन का संघर्ष, नरेंद्र मोदी जी आपके मंत्री के बेटे ने किसानों को कुचल कर मार डाला, आपको कोई परवाह नहीं थी। आपकी पार्टी के नेताओं ने किसानों का अपमान करते हुए उन्हें आतंकवादी, देशद्रोही, गुंडे, उपद्रवी कहा, आपने खुद आंदोलनजीवी बोला..उनपर लाठियां बरसाईं, उन्हें गिरफ्तार किया। 

राहुल गांधी ने किसानों को लिखी चिट्ठी

वहीं, कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कृषि कानूनों के वापस लेने के केंद्र सरकार के फैसले के बाद किसानों को चिट्ठी लिखी। उन्होंने लिखा, 'मेरे प्यारे अन्नदाताओं, आपके तप, संघर्ष और बलिदान के दम पर मिली ऐतिहासिक जीत की बहुत-बहुत बधाई। मैं आपके इस संघर्ष में 700 से अधिक किसान-मजदूर भाई-बहनों द्वारा दी गई कुर्बानी के लिए नतमस्तक हूं।' कृषि कानूनों की वापसी के एलान के बाद कांग्रेस शनिवार को विजय दिवस मना रही है। देशभर में कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता सभाएं और रैली कर रहे हैं।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.