सोनिया गांधी ने अपने संसदीय क्षेत्र के लिए दिए 1.17 करोड़ रुपये

सोनिया गांधी ने अपने संसदीय क्षेत्र के लिए दिए 1.17 करोड़ रुपये

उत्तर प्रदेश में बढ़ रहे कोरोना संकट के बीच कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अपने संसदीय क्षेत्र रायबरेली में अपनों की मदद और इलाज के लिए उन्होंने अपनी सांसद निधि से एक करोड़ 17 लाख 77 हजार रुपये दिए हैं।

उत्तर प्रदेश में बढ़ रहे कोरोना संकट के बीच कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अपने संसदीय क्षेत्र रायबरेली में अपनों की मदद और इलाज के लिए उन्होंने अपनी सांसद निधि से एक करोड़ 17 लाख 77 हजार रुपये दिए हैं।

उन्होंने बकायदा डीएम को पत्र लिखकर अपनी सांसद निधि में उपलब्ध पूरी धनराशि कोरोना सुरक्षा में खर्च करने की संस्तुति दी है। सोनिया गांधी ने पत्र लिखकर कहा है कि "हमें अपने जिले की जनता की काफी फिक्र है। सभी कोरोना को लेकर सतर्कता बरतें। घर में ही रहें। किसी कारणवश घर से निकलें तो मास्क जरूर लगाएं। साथ ही सैनिटाइजर का प्रयोग करने के साथ सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।"

सोनिया गांधी के प्रतिनिधि केएल शर्मा और कांग्रेस के जिला प्रवक्ता विनय द्विवेदी ने बताया कि सांसद ने डीएम को भेजे पत्र में कहा है कि मेरी निधि में एक करोड़ 17 लाख 77 हजार धन स्वीकृत है।

वर्तमान समय में कोविड-19 जैसी महामारी संपूर्ण देश के अलावा जिले में व्यापक रूप से फैली हुई है, जिससे जनता को अत्यंत कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। इसलिए मेरी सांसद निधि की धनराशि कोविड-19 की महामारी से अपने निर्वाचन क्षेत्र रायबरेली की जनता के बचाव के लिए नियमानुसार आवश्यक उपकरण क्रय एवं अन्य जिन मदों में भी आवश्यकता हो, उनमें व्यय किया जाए।

सांसद प्रतिनिधि ने बताया कि सोनिया गांधी जिले की जनता को लेकर गंभीर है। वह चाहती हैं कि लोगों को बेहतर इलाज मुहैया हो सके।

उधर, सोनिया गांधी के खिलाफ लोकसभा का चुनाव लड़े भारतीय जनता पार्टी से एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह ने भी जिलाधिकारी को पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने जीआइसी ग्राउंड या अन्य किसी स्थान पर जर्मन हैंगर वाटरप्रूफ टेंट लगवाने का प्रस्ताव दिया है और कहा है कि टेंट में 500 बेड के अलावा इसमें पंखा, कूलर सब रहेगा। ऑक्सीजन, जीवन रक्षक दवाओं और चिकित्सीय स्टॉफ की व्यवस्था प्रशासन कर ले।

उन्होंने कहा है कि इस पर जो खर्च आएगा, उसे वे वहन करेंगे। बजट कम पड़ा तो दूसरों से सहयोग लिया जाएगा।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news