यूपी सरकार ने 9 गेस्ट हाउस का नाम नदियों, धार्मिक स्थलों के नाम पर रखा

योगी आदित्यनाथ सरकार ने अपने लखनऊ, दिल्ली, मुंबई और कोलकाता में नौ अतिथि गृहों का नाम देश की प्रमिख नदियों या हिंदू धार्मिक स्थलों के नाम पर रखने का फैसला किया है।
यूपी सरकार ने 9 गेस्ट हाउस का नाम नदियों, धार्मिक स्थलों के नाम पर रखा

उत्तर प्रदेश में विकास और बदलाव की बयार में अब सरकार के नियंत्रणाधीन 9 अतिथि गृहों के नामों को बदलने के प्रस्ताव को भी मंज़ूरी मिल गई है। योगी आदित्यनाथ सरकार ने अपने लखनऊ, दिल्ली, मुंबई और कोलकाता में नौ अतिथि गृहों का नाम देश की प्रमिख नदियों या हिंदू धार्मिक स्थलों के नाम पर रखने का फैसला किया है।

राज्य के संपदा विभाग के अनुसार, दिल्ली में यूपी भवन को अब 'संगम' कहा जाएगा, जबकि "यूपी सदन" को यूपी सदन 'त्रिवेणी' के नाम से जाना जाएगा।महात्मा गांधी मार्ग पर लखनऊ स्थित अति विशिष्ट अतिथि गृह को अति विशिष्ट अतिथि गृह 'साकेत' कहा जाएगा।

डालीबाग में गेस्ट हाउस को वीआईपी गेस्ट हाउस 'यमुना' के नाम से जाना जाएगा, जबकि विक्रमादित्य मार्ग और मीराबाई मार्ग पर स्थित गेस्ट हाउस को क्रमश: 'गोमती' और 'सरयू' कहा जाएगा। बटलर पैलेस कॉलोनी के गेस्ट हाउस को 'नैमिषारण्य' कहा जाएगा।

मुंबई में स्टेट गेस्ट हाउस अब यूपी स्टेट गेस्ट हाउस 'वृंदावन' के नाम से जाना जाएगा, जबकि कोलकाता में गेस्ट हाउस को यूपी स्टेट गेस्ट हाउस 'गंगा' कहा जाएगा।

इस बदलावों की ख़ास बात ये है की जयादातर अतिथि गृहों के नाम देश की बड़ी और प्रमुख नदियों के नाम पर रखे गए हैं जैसे, यमुना, गंगा, त्रिवेणी, गोमती और सरयु। योगी सरकार ने अपने नवी मुंबई स्थित उत्तर प्रदेश राज्य अतिथि गृह, वाशी, का नाम बदल कर उत्तर प्रदेश राज्य अतिथि गृह ‘वृन्दावन’, वाशी, नवी मुंबई कर दिया है।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.