यूपी की योगी सरकार एक लाख स्किल्ड वर्कर्स को निशुल्क टैबलेट देगी

राज्य सरकार से मिली जानकारी के अनुसार स्किल्ड वर्कर्स रोजगार के लिए पोर्टल पर ही आवेदन कर सकते हैं। कौशल विकास मिशन की ओर से इन्हें ट्रेनिंग दिलाई जाएगी। इसके अलावा यूपी सरकार स्किल्ड वर्कर्स को सर्विस देने के लिए एक लाख निशुल्क टैबलेट भी देगी।
यूपी की योगी सरकार एक लाख स्किल्ड वर्कर्स को निशुल्क टैबलेट देगी

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जल्द ही स्किल्ड वर्कर्स और आम लोगों को बड़ा तोहफा देने वाले हैं। कौशल विकास मिशन के तहत वेबपोर्टल ऐप और कॉल सेंटर 155330 के माध्यम से लोगों को रोजमर्रा से जुड़ी सेवाएं दी जा रही हैं। इससे एक तो लोगों को रोजमर्रा की सेवाओं के लिए परेशान नहीं होना पड़ रहा है। साथ ही स्किल्ड वर्कर्स को भी रोजगार मिलेगा और उनकी आमदनी भी होगी। राज्य सरकार से मिली जानकारी के अनुसार स्किल्ड वर्कर्स रोजगार के लिए पोर्टल पर ही आवेदन कर सकते हैं। कौशल विकास मिशन की ओर से इन्हें ट्रेनिंग दिलाई जाएगी। इसके अलावा यूपी सरकार स्किल्ड वर्कर्स को सर्विस देने के लिए एक लाख निशुल्क टैबलेट भी देगी।

मुख्यमंत्री योगी ने समाज के अंतिम पायदान पर खड़े लोगों के लिए कौशल विकास मिशन से जोड़कर रोजगार उपलब्ध कराने के निर्देश दिए थे। इस बाबत श्रम विभाग की ओर से कोरोना की पहली लहर के दौरान आए दूसरे राज्यों से प्रवासियों की स्किल मैपिंग कर रोजगार भी मुहैया कराया गया। इसी के तहत अब श्रम विभाग की ओर से अधिक से अधिक स्किल्ड वर्कर्स को रोजगार दिलाने के उद्देश्य से 25 जिलों में सेवा मित्र सेवा की शुरूआत की गई है, जिसका अभी ट्रायल चल रहा है और जल्द ही शेष सभी जिलों में इसे शुरू किया जाने वाला है। इसके लिए 50 सीटर कॉल सेंटर तैयार किया गया है।

कौशल विकास मिशन के निदेशक कुनाल सिल्कू ने बताया कि सरकार की ओर से आम लोगों और स्किल्ड वर्कर्स के लिए बहुत अच्छी सेवा शुरू की गई है। सर्विस बुक करते ही प्रोवाइडर और रेट आ जाता है। जल्द ही मुख्यमंत्री इस सेवा की शुरूआत करेंगे।

पोर्टल, ऐप और काल सेंटर के माध्यम से एसी की सर्विस और रिपेयर, उपकरण की मरम्मत, कार रिपेयर और सर्विस, कारपेंटर, सफाई और डिस इंफेक्शन, इलेक्ट्रिशियन, आईटी हार्डवेयर और सर्विस, नसिर्ंग सर्विसेज, प्लंबर, आरओ सर्विस और रिपेयर, महिलाओं और पुरुषों के लिए सेवाएं उपलब्ध हैं।

आगरा, अलीगढ़, अयोध्या, बाराबंकी, बरेली, बिजनौर, गौतमबुद्धनगर, गाजियाबाद, गाजीपुर, गोरखपुर, जालौन, झांसी, कानपुर देहात, कानपुर नगर, ललितपुर, लखनऊ, मथुरा, मेरठ, मीरजापुर, पीलीभीत, प्रतापगढ़, प्रयागराज, सहारनपुर, सुल्तानपुर, उन्नाव और वाराणसी।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news