विश्व पर्यावरण दिवस पर UPSIDA ने लिया पूरे राज्य में अपने विभिन्न औद्योगिक क्षेत्रों में वृक्षारोपण अभियान चलाने का संकल्प

47वें विश्व पर्यावरण दिवस को पूरे जोश के साथ मनाते हुए, यूपीएसआईडीए (UPSIDA) ने पूरे राज्य में अपने विभिन्न औद्योगिक क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर वृक्षारोपण अभियान चलाने का संकल्प लिया।
विश्व पर्यावरण दिवस पर UPSIDA ने लिया पूरे राज्य में अपने विभिन्न औद्योगिक क्षेत्रों में वृक्षारोपण अभियान चलाने का संकल्प

47वें विश्व पर्यावरण दिवस को पूरे जोश के साथ मनाते हुए, यूपीएसआईडीए (UPSIDA) ने पूरे राज्य में अपने विभिन्न औद्योगिक क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर वृक्षारोपण अभियान चलाने का संकल्प लिया। UPSIDA के सभी क्षेत्रीय और निर्माण कार्यालयों द्वारा स्थानीय उद्योगपतियों और संघों की मदद से वृक्षारोपण स्थलों की पहचान करते हुए वृक्षारोपण की व्यवस्था करके सक्रिय रूप से योगदान दिया।

पर्यावरण के सबसे अनुकूल वृक्षों की किस्मों को चुनने के लिए भी विशेष ध्यान रखा गया। इस आयोजन में भाग लेने के लिए मुख्यालय से भी टीमों को विभिन्न क्षेत्रों में भेजा गया।

यूपीएसआईडीए (UPSIDA) ने स्थानीय आवंटियों, उद्योगपतियों और औद्योगिक संघों जैसे संडीला में पेप्सी और ग्रीनप्लाई, नैनी में नैनी एयरो स्पेस, चित्रकूट में एमवीएम मोटर्स, महान सलेमपुर में मिल्क फूड्स लिमिटेड , पनकी में लघु उद्योग भारती और ग्रेटर नोएडा में सूरजपुर रेजिडेंट्स वेलफेयर एसोसिएशन के सक्रिय योगदान के साथ वृक्षारोपण अभियान को सफलतापूर्वक पूरा करते हुए लगभग पांच हज़ार वृक्षारोपण किया। ।

वृक्षारोपण अभियान को हरी झंडी दिखाते हुए यूपीएसआईडीए (UPSIDA) के सीईओ श्री मयूर माहेश्वरी ने स्थानीय औद्योगिक संघ के साथ सूरजपुर औद्योगिक क्षेत्र में पौधारोपण किया जबकि एएसीईओ, यूपीएसआईडीए श्री राजेश राय द्वारा संडीला औद्योगिक क्षेत्र और एएसीईओ, यूपीएसआईडीए सुश्री नेहा जैन द्वारा ट्रांसगंगा सिटी तथा उन्नाव औद्योगिक क्षेत्र में वृक्षारोपण अभियान में भाग लिया, जिसमें स्थानीय आवंटियों और निवासियों ने उत्साहपूर्वक भाग लिया।

राज्य सरकार द्वारा वित्तीय वर्ष 2021-22 में UPSIDA को 1,65,000 वृक्ष लगाने का विशाल लक्ष्य दिया गया है। सभी क्षेत्रीय कार्यालयों को उनके वृक्षारोपण लक्ष्य प्रदान कर दिया गया है। इसी क्रम में झांसी औद्योगिक क्षेत्र में 12500 वृक्ष, जालौन और ललितपुर औद्योगिक क्षेत्रों में 12000 वृक्ष, हापुड़ में 11000 वृक्ष, लखनऊ क्षेत्र में 7000 वृक्ष और 25 से अधिक अन्य औद्योगिक क्षेत्रों में बड़ी संख्या में वृक्ष लगाने का निर्णय लेते हुए, यूपीएसआईडीए ने एक बार फिर राज्य में औद्योगीकरण को बढ़ावा देने के साथ-साथ प्रकृति की रक्षा के लिए अपनी प्रतिबद्धता दिखाई है।

विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर अधिकतम ऑक्सीजन और छाया देने वाले बरगद, नीम, आंवला, आम आदि जैसे पर्यावरण हितैषी वृक्ष लगाते हुए, यूपीएसआईडीए के सीईओ ने हरित ग्रह की आवश्यकता के रूप में वृक्षों के महत्व पर प्रकाश डाला।

यूपीएसआईडीए (UPSIDA) के सीईओ ने कहा कि " वृक्ष लगाते समय, सभी के लिए यह अनुभव करना आवश्यक है कि जब पर्यावरण को बचाने की बात आती है तो हर छोटा काम मायने रखता है। आप एक हरित जीवन शैली का नेतृत्व करने के लिए कितना भी छोटा कदम उठाएं, इससे फर्क पड़ता है और प्रकृति के साथ सद्भाव और संतुलन बनाए रखने के लिए अपनी इकाइयों का संचालन करने वाले उद्योगपतियों पर तो विशेष जिम्मेदारी है। ”

सभी उद्योगपतियों और औद्योगिक संघों ने भी अपने-अपने औद्योगिक क्षेत्रों में वृक्षारोपण किया और पर्यावरण को होने वाले नुकसान को यथासंभव कम करने के लिए प्रभावी कदम उठाने का संकल्प लिया।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news