उत्तर प्रदेश: मुख्यमंत्री योगी ने वाराणसी में किया बायोगैस प्लांट का निरीक्षण

उत्तर प्रदेश: मुख्यमंत्री योगी ने वाराणसी में किया बायोगैस प्लांट का निरीक्षण

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के विकास में किसी कोने को भी नहीं छोड़ा है। चाहे स्वच्छ ईंधन हो या पर्यावरण संरक्षण।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के विकास में किसी कोने को भी नहीं छोड़ा है। चाहे स्वच्छ ईंधन हो या पर्यावरण संरक्षण। गुरुवार को मुख्यमन्त्री शहंशाहपुर, जनपद वाराणसी स्थित विशाल गौशाला में स्थापित किये जा रहे बायोगैस प्लाण्ट का निरीक्षण करने पहुंचे।

इस अवसर पर मण्डलायुक्त वाराणसी ने मुख्यमंत्री जी को इस परियोजना की प्रगति से अवगत कराया। वाराणसी नगर निगम द्वारा संचालित इस विशाल गौशाला में 300 से अधिक गाय हैं। इससे यहां स्वच्छ ईंधन बनाने की अपार संभावना थी। अब यहाँ गायों के गोबर व अन्य ऑर्गेनिक वेस्ट प्रोडक्ट से बायोगैस संयंत्र में गैस निर्मित की जाएगी।

निर्मित मीथेन को सी.एन.जी. में बदलने के बाद इसे कंप्रेस कास्केट में भरकर होटल, सी.एन.जी. पम्प व सी.एन.जी. वाहनों में उपयोग के लिए उपलब्ध कराया जाएगा। इस विशाल गौशाला में प्राइड कंफ्डरेशन (अडानी ग्रुप) द्वारा 30 करोड़ रुपए की लागत से बायोगैस प्लाण्ट को निर्मित कराया जा रहा है। प्लाण्ट का 90 प्रतिशत कार्य पूरा हो चुका है।

इसी महीनइ के अंत तक बायोगैस प्लाण्ट में उत्पादन होने लगेगा। बायोगैस संयंत्र की 2500 किग्रा0 सी0एन0जी0 गैस, 30 हजार किलोग्राम खाद तथा 40 हजार लीटर तरल फर्टिलाइजर के निर्माण की क्षमता है।

इस अवसर पर पर्यटन एवं संस्कृति राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ नीलकण्ठ तिवारी तथा प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित थे।

Note: Yoyocial.News लेकर आया है एक खास ऑफर जिसमें आप अपने किसी भी Product का कवरेज करा सकते हैं।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.