क्या युवा बनेंगे बसपा के लिए सत्ता की सीढ़ी?

क्या युवा बनेंगे बसपा के लिए सत्ता की सीढ़ी?

उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव में बहुजन समाज पार्टी(बसपा) इस बार युवाओं पर दांव लगाकर सत्ता पाने की फिराक में लगी हुई है।

उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव में बहुजन समाज पार्टी(बसपा) इस बार युवाओं पर दांव लगाकर सत्ता पाने की फिराक में लगी हुई है। इसी कारण पार्टी की मुखिया मायावती के भतीजे आकाश आनंद और सतीश मिश्रा के बेटे कपिल इन दिनों पूरी ताकत से युवा वोटरों को आकर्षित करने में जुटे हैं।

बसपा मुखिया ने अपने भतीजे आकाश आनंद को पिछले साल राष्ट्रीय कोआर्डिनेटर बनाकर मैदान में उतार दिया था। तब से लगातार वह पार्टी के प्रचार प्रसार में लगे हैं। 2017 के चुनाव में भी वह नजर आ रहे थे। अब 2022 के विधानसभा चुनाव को लेकर बसपा पूरी जोर शोर से लगी हुई है। ऐसे में उनकी भूमिक काफी अहम है। वह दिल्ली के साथ पंजाब में खूब सक्रिय हैं। पिछले दिनों आकाश आनंद ने पंजाब में कई जनसभाएं की हैं।

बसपा के संस्थापक कांशीराम की बहन से भी भेंट की थी। अब वह यूपी में होने वाले विधानसभा चुनाव में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। यहां पर वह युवा सवांद को और धार देंगे। उसकी बागडोर सतीश चन्द्र मिश्रा के बेटे कपिल संभाले हुए हैं। उसमें मायावती के शासन काल में हुए कार्यों के बारे में बखान हो रहा है। साथ ही युवाओं को बसपा से जोड़ने की रणनीति तैयार की जा रही है। जिससे कि 2022 के विधानसभा चुनावों में बसपा को बड़ी लाभ हो।

बसपा के एक नेता ने बताया कि बहुजन समाज पार्टी इस बार यूथ बिग्रेड को आगे बढ़ाएगी। इस बहुत ज्यादा संख्या में नौजवानों को टिकट भी दिया जाएगा। इसके लिए तैयारी की जा रही है। आकाश आनंद और कपिल मिलकर सोशल मीडिया के माध्यम से उन्हें लगातार संदेश भी दे रहे हैं। इसके साथ युवा संवाद कार्यक्रम तैयार किया गया है, जो कि पूरे 18 मंडलों में होना है। इसमें अगुवाई कपिल मिश्रा करेंगे। आकाश भी कुछ जगहों पर शामिल होंगे। आकाश अभी पंजाब पर भी अपनी नजर गड़ाए हुए हैं।

उन्होंने बताया कि संवाद में उन युवाओं पर फोकस किया जा रहा है, जो कि पहली बार वोट डालने जा रहे है। पार्टी उसी पर फोकस कर रही अभी कानपुर, कन्नौज और लखनऊ के नौजवानों से कपिल मिश्रा संवाद करेंगे। वह बसपा सरकार में युवाओं के लिए किए गये कार्यों का बखान तो करेंगे, इसके साथ वह आगे आने वाले समय में बसपा उनके लिए किस प्रकार की भलाई का काम करेगी, उसे भी रेखांकित करेंगे। कपिल सोशल मीडिया की अहमियत और खामियों के बारे में ज्ञान दे रहे हैं। उनका साफ कहना है कि युवाओं को सोशल मीडिया का खुलकर इस्तेमाल करने की जरूरत है।

बसपा नेता का कहना है कि इस बार तकरीबन 50 प्रतिषत की संख्या में युवाओं को टिकट देने की बातें सामने आ रही है। इसी कारण फीडबैक भी लिया जा रहा है। दावेदारों की सूची तैयार हो रही है। जिनका पार्टी के प्रति समर्पण होगा उसे मौका देने की बात हो रही है।

पूर्व मंत्री व वरिष्ठ नेता नकुल दुबे का कहना है प्रदेश को आगे बढ़ाने में युवाओं की ज्यादा जिम्मेदारी है। पार्टी इसी बात को ध्यान रखकर युवा पर फोकस कर रही है। युवाओं को जागृत किया जा रहा है। उन्हें कैसे आगे बढ़ाना और रोजगार के अवसर पैदा करना इन सब पर भी ध्यान दिया जा रहा है।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.