उत्तराखंड: तबीयत बिगड़ने से पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत किए गए दिल्ली AIIMS रेफर

उत्तराखंड: तबीयत बिगड़ने से पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत किए गए दिल्ली AIIMS रेफर

कोरोना संक्रमित मिले पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के स्वास्थ्य में सुधार नहीं हुआ है। उनके फेफड़ों में संक्रमण मिला है और सांस लेने में भी दिक्कत हो रही थी।

कोरोना संक्रमित मिले पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के स्वास्थ्य में सुधार नहीं हुआ है। उनके फेफड़ों में संक्रमण मिला है और सांस लेने में भी दिक्कत हो रही थी। दून अस्पताल में विभिन्न जांचें और प्राथमिक उपचार के बाद डॉक्टरों ने उन्हें नई दिल्ली एम्स रेफर कर दिया।

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, उनकी पत्नी, बेटी और स्टाफ में शामिल दो अन्य लोगों में बुधवार को कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई थी। गुरुवार को वह चिकित्सीय जांच के लिए दून अस्पताल पहुंचे। हरीश रावत को सांस लेने में दिक्कत हो रही थी। जिस पर डॉक्टरों ने सीटी स्कैन, ईसीजी और अन्य विभिन्न जांचें कराने के बाद उन्हें अस्पताल के वीआईपी वार्ड में भर्ती कर लिया।

जबकि उनकी पत्नी, बेटी और जांच को आए स्टाफ के एक अन्य व्यक्ति की तबीयत सामान्य पाई गई।

सभी को निर्धारित अवधि तक होम आइसोलेशन में रहने की सलाह दी गई है। वहीं, सांस लेने में दिक्कत के चलते हरीश रावत को कृत्रिम ऑक्सीजन दी गई।

दून मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. आशुतोष सयाना और अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. केसी पंत ने बताया कि पूर्व मुख्यमंत्री को पहले से मधुमेह, रक्तचाप, हृदय और गर्दन संबंधी दिक्कत भी थी। सांस लेने में दिक्कत की वजह से कृत्रिम ऑक्सीजन पर रखकर एंबुलेंस से उन्हें जौलीग्रांट एयरपोर्ट पहुंचाया गया। जहां से एयर एंबुलेंस के जरिए नई दिल्ली एम्स रेफर किया गया है।

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के लिए अपने वरिष्ठ चिकित्सक डॉ. एनएस बिष्ट को दून अस्पताल भेजा। उन्होंने डॉक्टर का निर्देश दिए कि पूर्व सीएम हरीश रावत का इलाज पूरी गंभीरता से किया जाए। अगर किसी भी तरह की परेशानी है तो उन्हें एम्स दिल्ली में भर्ती कराने की पूरी व्यवस्था तत्काल कराई जाए।

डॉ. एनएस बिष्ट तत्काल दून अस्पताल पहुंचे। सभी रिपोर्ट और उनकी स्वास्थ्य जांच के बाद उन्हें एम्स दिल्ली के लिए रेफर कर दिया गया। डॉ. बिष्ट ने बताया कि मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत फिलहाल स्वस्थ्य हैं और होम आईसोलेशन में अपना काम कर रहे हैं।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news