फेसबुक ने की नई कॉर्पोरेट मानवाधिकार नीति की घोषणा

फेसबुक ने की नई कॉर्पोरेट मानवाधिकार नीति की घोषणा

मानवाधिकारों का उल्लंघन किए जाने के मामले में फेसबुक की भूमिका की अकसर आलोचना होती रही है। अब इसने ऑनलाइन एक नई कॉर्पोरेट मानवाधिकार नीति की पेशकश की है, जिसमें मानवाधिकार रक्षकों का समर्थन करने के लिए सभी सोशल नेटवर्क और एक कोष शामिल हैं।

मानवाधिकारों का उल्लंघन किए जाने के मामले में फेसबुक की भूमिका की अकसर आलोचना होती रही है। अब इसने ऑनलाइन एक नई कॉर्पोरेट मानवाधिकार नीति की पेशकश की है, जिसमें मानवाधिकार रक्षकों का समर्थन करने के लिए सभी सोशल नेटवर्क और एक कोष शामिल हैं।

इस नई नीति का निर्धारण मानवाधिकार मानकों के आधार पर किया गया है। फेसबुक द्वारा अंतर्राष्ट्रीय कानून का पालन करने का प्रयास किया जाएगा, जिसमें संयुक्त राष्ट्र मार्गदर्शक सिद्धांत व्यापार एवं मानवाधिकार भी शामिल है।

बुधवार को मानवाधिकार की निदेशक मिरांडा सिसंस ने कहा, "हम इन मानकों को अपने ऐप, प्रोडक्ट्स, नीतियों, प्रोग्रामिंग और व्यवसाय के प्रति अपने समग्र दृष्टिकोण पर किस तरह से लागू करेंगे, यह इन्हीं सब पर निर्भर करेगा। हम अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के लिए खतरा जैसे मानवाधिकार से संबंधित महत्वपूर्ण मुद्दों की बात अपने बोर्ड ऑफ डिरेक्टर्स के सामने रखेंगे।"

फेसबुक की तरफ से हर साल एक पब्लिक रिपोर्ट भी जारी किया जाएगा, जिसमें इस बात की जानकारी रहेगी कि इसके प्रोडक्ट्स, पॉलिसी या बिजनेस से संबंधित क्रियाकलापों के दौरान सामने आए मानवाधिकार से संबंधित मुद्दों का इसने किस तरह से निपटारा किया।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news